शुक्रवार, 31 अक्टूबर, 2014 | 00:27 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    नौकरानी की हत्या: धनंजय को जमानत, जागृति के रिकार्ड मांगे अमर सिंह के समाजवादी पार्टी में प्रवेश पर उठेगा पर्दा योगी आदित्य नाथ ने दी उमा भारती को चुनौती देश में मौजूद कालेधन पर रखें नजर : अरुण जेटली शिक्षा को लेकर मोदी सरकार पर आरएसएस का दबाव कोयला घोटाला: सीबीआई को और जांच की अनुमति सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं
पेश हुई किंगफिशर एयरलाइंस की पुर्नसंचालन योजना
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:24-12-12 05:12 PM
Image Loading

नकदी संकट से गुजर रही विमानन कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस ने लाइसेंस के नीवनीकरण की आखिरी तारीख से कुछ ही दिनों पहले सोमवार को नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) को विमानों का संचालन फिर से शुरू करने की योजना (रिवाइवल योजना) सौंप दी।

नागरिक उड्डयन मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि उन्होंने (किंगफिशर एयरलाइंस) आज (सोमवार को) नागरिक उड्डयन महानिदेशक के साथ हुई एक बैठक में उन्हें अपनी पर्नसचालन योजना पेश कर दी।

कंपनी ने हालांकि इस बारे में कुछ भी बताने से इंकार किया है। महानिदेशालय ने 20 अक्टूबर को कंपनी के संचालन लाइसेंस को यह कहते हुए निलंबित कर दिया था कि उसके पास कोई पुर्नसचालन योजना नहीं है।

विमानन कंपनी की उड़ानों का संचालन एक अक्टूबर से जारी कार्मिकों की हड़ताल के बाद से बाधित है। विमानन कम्पनी के लाइसेंस के नवीनीकरण की आखिरी तारीख 31 दिसंबर 2012 है।

वित्तीय संकट से निकलने के लिए विमानन कंपनी विदेशी विमानन कंपनियों के साथ हाथ मिलाने की कोशिश कर रही है और इसके लिए 49 फीसदी की अधिकतम प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की सीमा में से 46 फीसदी को विदेशी विमानन कंपनी द्वारा संभावित निवेश के लिए आरक्षित कर रखा है, जबकि शेष तीन फीसदी हिस्सेदारी विदेशी संस्थागत निवेशकों, विदेशी योग्य निवेशकों तथा गैर रणनीतिक निवेशकों के लिए छोड़ रखा है।

 

 
 
 
टिप्पणियाँ