शुक्रवार, 27 फरवरी, 2015 | 12:58 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
आर्थिक समीक्षा में कहा गया है कि आने वाले वर्षों में आर्थिक वृद्धि दर 8 से 10 प्रतिशत के बीच संभव है। वर्ष 2014-15 में वृद्धि दर 7.4 प्रतिशत रहने का अनुमान है।गोधरा दंगों के बाद गुजरात के हिम्मतनगर जिले में तीन ब्रितानी लोगों की हत्या के मामले में स्थानीय अदालत ने छह लोगों को बरी किया।देश में विकास का अच्छा माहौल: आर्थिक सर्वे।2014-15 में विकास घरेलू मांग के कारण: आर्थिक सर्वे।बरेली- बीएसएफ के भिटौरा कैंप में स्‍वाइन फ़लू की दहशत, तबियत खराब होने पर जिला अस्‍पताल लाए गए 10 जवान, स्‍वाइन फ़लू के संदेह में कराया जा रहा मेडिकल परीक्षण, जांच को लखनऊ भेजे जा रहे नमूने।अप्रैल-दिसंबर के बीच महंगाई दर घटी: आर्थिक सर्वे।8 फीसदी विकास दर का अनुमान: आर्थिक सर्वे।लोकसभा में आर्थिक सर्वेक्षण पेश
अग्रिम कर, आरबीआई की घोषणा पर रहेगी निगाह
मुंबई, एजेंसी First Published:16-12-12 10:58 AM
Image Loading

अगले सप्ताह शेयर बाजार पर तीसरी तिमाही में अग्रिम कर भुगतान, भारतीय रिजर्व बैंक की मध्य तिमाही मौद्रिक नीति समीक्षा तथा कुछ वित्तीय क्षेत्र के विधेयकों पर निवेशकों की निगाह रहेगी।

भारतीय कारोबारी कम्पनियां 15 दिसम्बर से तीसरी तिमाही के लिए अग्रिम कर भुगतान करना शुरू कर देंगी, जो कम्पनियों के प्रदर्शन का आइना होगा। अग्रिम कर का भुगतान चार किश्तों में (15 जून तक 15 फीसदी, 15 सितम्बर तक 40 फीसदी, 15 दिसम्बर तक 75 फीसदी और 15 मार्च तक सौ फीसदी) होता है।

रिजर्व बैंक मंगलवार 18 दिसम्बर को मध्य तिमाही मौद्रिक नीति समीक्षा की घोषणा करेगा। रिजर्व बैंक ने पिछली समीक्षा में रेपो दर को आठ फीसदी पर बरकरार रखा था और इसका कारण महंगाई दर का ऊंचे स्तर पर होना बताया था। नकद आरक्षी अनुपात में हालांकि 25 आधार अंकों की कटौती कर इसे 4.25 फीसदी कर दिया गया था।

संसद के 22 नवम्बर से शुरू हुए शीतकालीन सत्र में कई वित्त विधेयकों पर चर्चा होनी है। सरकार इस सत्र में बीमा और पेंशन विधेयकों तथा बैंकिंग कानून (संशोधन) विधेयक, 2011 को पारित करना चाहती है।

बीमा विधेयक में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) सीमा को मौजूदा 26 फीसदी से बढ़ाकर 49 फीसदी किए जाने का प्रावधान है। पेंशन विधेयक में स्थानीय कोष प्रबंधक कम्पनियों में 49 फीसदी एफडीआई सीमा का प्रावधान है।

बैंकिंग कानून (संशोधन) विधेयक 2011 में निजी बैंकों में बड़े शेयर धारकों का मताधिकार 10 फीसदी से बढ़ाकर 26 फीसदी किए जाने और सरकारी बैंकों में एक फीसदी से बढ़ाकर 10 फीसदी किए जाने का प्रावधान है। साथ ही इसमें रिजर्व बैंक को अधिक शक्ति प्रदान करने का भी प्रावधान है।

रिजर्व बैंक ने नए बैंकिंग लाइसेंस जारी करने से पहले सरकार से कहा है कि पहले इस विधेयक को संसद में पारित करा लिया जाए। निवेशकों की नजर गुजरात विधानसभा चुनाव पर भी है, जिसका आखिरी मतदान सोमवार 17 दिसम्बर, 2012 को होने वाला है। गुरुवार 20 दिसम्बर को गुजरात और हिमाचल प्रदेश में हुए मतदान की गिनती होने वाली है। हिमाचल प्रदेश में चार नवम्बर, 2012 को मतदान सम्पन्न हो चुके हैं।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड