मंगलवार, 27 जनवरी, 2015 | 22:21 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
कर्नल राय को सोमवार को ही गणतंत्र दिवस के मौके पर वीरता सम्मान प्रदान किया गया था।कश्मीर मुठभेड़ में कर्नल राय और सिपाही शहीद।'मन की बात' पर ई बुक निकाली जाएगी: मोदी।जॉब फॉर आल, यस वी कैन: मोदी।मन की बात सुनने के लिए देशवासियों का आभारी हूं: मोदी।मोटापे और डायबिटीज से लड़ने में भारत की मदद को तैयार: बराक।मेरे पास वही समस्याएं आती हैं जिन्हे कोई हल नहीं कर पाता है: बराक।मुझे बेंजामिन फेंकलिन का जीवन चरित्र प्रेरक लगता है: मोदी।युवकों दुनिया को एक करो: मोदी।मोदी ने ओबामा को बेटियों के साथ भारत आने का निमंत्रण दिया।आज का युवा देश की सीमाओं से बंधा नहीं है: बराक।कुछ बनने के नहीं कुछ करने के सपने देखो: मोदी।मैं राष्ट्रपति पद से हटने के बाद बेटियों के साथ भारत आना चाहूंगा: बराक।मोदी को बराक ओबामा ने किताब के प्रमुख हिस्सों को पढ़कर सुनाया था।बराक ने मुझे स्वामी विवेकानंद के भाषण वाली किताब दी थी, यह बात मेरे दिल को छू गई थी: मोदी।अपनी बेटियों को बताऊंगा कि जितना आप जानतीं हैं भारत उतना ही भव्य है: बराक।मेरी बेटी को भारत की संस्कृति काफी पसंद है: बराक।मेरी बेटियां भारत आने को उत्सुक थीं, लेकिन स्कूली परीक्षा में व्यस्तता के कारण नहीं आ पाईं: बराक।मानव सेवा को ईश्वर सेवा मानने की गांधी जी की शिक्षा अनुकरणीय: बराक।भारत और अमेरिका दुनिया के दो बड़े लोकतंत्र हैं: बराक।बराक ओबामा ने मन की बात में भारत के लोगों को नमस्ते कहा।रविवार को हुई थी कार्यक्रम की रिकार्डिंग।बराक का मतलब है, वह जिसे आशीर्वाद प्राप्त है: मोदी।रेडियो पर मोदी-ओबामा ने शुरू की मन की बात।देवघर कोर्ट ने भड़काऊ भाषण मामले में केंद्रीय राज्य मंत्री गिरिराज सिंह के खिलाफ सम्मन जारी किया।मुजफ्फरपुर: ट्रेन इंजन से टकराई कार, एक की मौत।कोली की फांसी रोकने संबंधी याचिका पर सुनवाई पूरी, कल आएगा फैसला।
भारतीय अर्थव्यवस्था 6.5 प्रतिशत वृद्धि हासिल करेगी
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:29-11-12 05:54 PM
Image Loading

विदेशी बाजारों में अनुकूल मांग परिदृश्य बनने और घरेलू स्तर पर ढांचागत सुधारों के आगे बढ़ने से वर्ष 2013 में भारतीय अर्थव्यवस्था की आर्थिक वृद्धि दर 6.5 प्रतिशत रह सकती है।

गोल्डमैन साक्स की ताजा रिपोर्ट में यह बात कही गई है। इस प्रमुख निवेश बैंकिंग संस्थान के एक अनुसंधान प्रपत्र के अनुसार वर्ष 2013 में आर्थिक वृद्धि दर धीरे-धीरे बढ़कर 6.5 प्रतिशत और वर्ष 2014 में 7.2 प्रतिशत तक रहने की संभावना है।

इसमें कहा गया है, नीतिगत दरों में कमी आने से वित्तीय क्षेत्र में धीरे-धीरे अनुकूल रुख बनने, सुधारों से बढ़ता विश्वास और सामान्य कृषि उपज, को देखते हुये अर्थव्यवस्था में सुधार की उम्मीद है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि वर्ष 2012 में 5.4 प्रतिशत से बढ़कर 2014 में 7.2 प्रतिशत तक पहुंच सकती है और यदि सरकार सुधारों के रास्ते पर आगे बढ़ती रहती है तो यह 2015-16 में भी उच्चस्तर पर बनी रहेगी।

रिपोर्ट के अनुसार, खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की अनुमति के साथ-साथ वस्तु एवं सेवा कर, सब्सिडी का सीधे नकदी के तौर पर हस्तांतरण और माल परिवहन के लिये विशेष रेलवे लाइन बिछाने जैसी परियोजनाओं से काफी मदद मिलेगी।

इसके अलावा हमारा मानना है कि राजकोषीय मोर्चे पर आगे सुधार, वित्तीय उदारीकरण और ढांचागत क्षेत्र में सुधार आर्थिक वृद्धि के बढ़े स्तर को बनाये रखने के लिये जरूरी है।

 

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड