शुक्रवार, 31 अक्टूबर, 2014 | 05:23 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    नौकरानी की हत्या: धनंजय को जमानत, जागृति के रिकार्ड मांगे अमर सिंह के समाजवादी पार्टी में प्रवेश पर उठेगा पर्दा योगी आदित्य नाथ ने दी उमा भारती को चुनौती देश में मौजूद कालेधन पर रखें नजर : अरुण जेटली शिक्षा को लेकर मोदी सरकार पर आरएसएस का दबाव कोयला घोटाला: सीबीआई को और जांच की अनुमति सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं
वोडाफोन के आवेदन पर वित्त मंत्रालय का जवाब जल्द
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:09-01-13 04:51 PM
Image Loading

राजस्व विभाग अपने नोटिस पर मोबाइल सेवा कंपनी वोडाफोन के आवेदन पर जवाब जल्द ही भेजेगा। ब्रिटेन की इस कंपनी को करीब 11,200 करोड़ रुपए का बकाया कर चुकाने का नोटिस भेजा गया था, कंपनी ने इस नोटिस पर आवेदन प्रस्तुत किया है।

सरकारी नोटिस में कंपनी को अमल की तरीख नहीं दी गयी है। वोडाफोन ने अपने जवाब में कहा कि उसके उपर ऐसा कोई कर बकाया नहीं है। वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हम अपने नोटिस पर वोडाफोन के जवाब का जवाब एक-दो दिन में जवाब देंगे।

विभाग ने हाल ही में ब्रिटेन की दूरसंचार कंपनी को बकाया कर के संबंध में नोटिस भेजा था। यह मामला 2007 में हांगकांग की कंपनी हचिसन व्हाम्पोआ के भारतीय कारोबार का वोडाफोन द्वारा अधिग्रहण किए जाने से है। यह सौदा दो विदेशी कंपनियों के बीच का था पर इसमें जिस सम्पत्ति का सौदा हुआ वह भारत में स्थित है।

ब्रिटिश कंपनी ने कहा था वोडाफोन ने जवाब में कहा कि उसका मानना है कि इस सौदे के मामले में उसके उपर किसी किस्म का कर बकाया नहीं है। आयकर विभाग ने 22 अक्टूबर 2010 को पारित आदेश में केमैन आइलैंड में हुए सौदे के संबंध में 11,218 करोड़ रुपए का कर (ब्याज समेत) देने का आदेश दिया था।

उच्चतम न्यायालय ने 2012 में इस आदेश को पलट दिया। न्यायालय के इस निर्णय के बाद सरकार ने ऐसे मामलों से संबंधित आयकर कानून के प्रावधानों में संशोधन कर उन्हें पिछली तारीख से प्रभावी बना दिया है।

 
 
 
टिप्पणियाँ