रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 11:29 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    आज मोदी की चाय पार्टी में शामिल हो सकते हैं शिवसेना सांसद शिक्षिका ने की थी गोलीबारी रोकने की कोशिश नांदेड-मनमाड पैसेजर ट्रेन के डिब्बे में आग,यात्री सुरक्षित दिल्ली के त्रिलोकपुरी में हिंसा के बाद बाजार बंद, लगाया गया कर्फ्यू मनोहर लाल खट्टर आज मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे, मोदी होंगे शामिल राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी
वोडाफोन के आवेदन पर वित्त मंत्रालय का जवाब जल्द
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:09-01-13 04:51 PM
Image Loading

राजस्व विभाग अपने नोटिस पर मोबाइल सेवा कंपनी वोडाफोन के आवेदन पर जवाब जल्द ही भेजेगा। ब्रिटेन की इस कंपनी को करीब 11,200 करोड़ रुपए का बकाया कर चुकाने का नोटिस भेजा गया था, कंपनी ने इस नोटिस पर आवेदन प्रस्तुत किया है।

सरकारी नोटिस में कंपनी को अमल की तरीख नहीं दी गयी है। वोडाफोन ने अपने जवाब में कहा कि उसके उपर ऐसा कोई कर बकाया नहीं है। वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हम अपने नोटिस पर वोडाफोन के जवाब का जवाब एक-दो दिन में जवाब देंगे।

विभाग ने हाल ही में ब्रिटेन की दूरसंचार कंपनी को बकाया कर के संबंध में नोटिस भेजा था। यह मामला 2007 में हांगकांग की कंपनी हचिसन व्हाम्पोआ के भारतीय कारोबार का वोडाफोन द्वारा अधिग्रहण किए जाने से है। यह सौदा दो विदेशी कंपनियों के बीच का था पर इसमें जिस सम्पत्ति का सौदा हुआ वह भारत में स्थित है।

ब्रिटिश कंपनी ने कहा था वोडाफोन ने जवाब में कहा कि उसका मानना है कि इस सौदे के मामले में उसके उपर किसी किस्म का कर बकाया नहीं है। आयकर विभाग ने 22 अक्टूबर 2010 को पारित आदेश में केमैन आइलैंड में हुए सौदे के संबंध में 11,218 करोड़ रुपए का कर (ब्याज समेत) देने का आदेश दिया था।

उच्चतम न्यायालय ने 2012 में इस आदेश को पलट दिया। न्यायालय के इस निर्णय के बाद सरकार ने ऐसे मामलों से संबंधित आयकर कानून के प्रावधानों में संशोधन कर उन्हें पिछली तारीख से प्रभावी बना दिया है।
 
 
 
टिप्पणियाँ