Image Loading income tax dept will issue letter soon to whom who not revert through email or sms - Hindustan
गुरुवार, 23 फरवरी, 2017 | 10:28 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • यूपी चुनावः चौथे चरण में 53 सीटों के लिए सुबह नौ बजे तक 10.23% मतदान, पल-पल की अपेडट के...
  • शेयर मार्केटः मजबूती के साथ खुले बाजार, 48 अंकों की तेजी के साथ सेंसेक्स 28,912 पर,...
  • #IndiavsAustralia #PuneTest ऑस्ट्रेलिया का टॉस जीत बल्लेबाजी का फैसला
  • शोपियां में आतंकी हमला, सेना के 3 जवान शहीद, 1 महिला की भी मौत। पूरी खबर पढ़ने के...
  • आज के 'हिन्दुस्तान' में पढ़ें बिमटेक के डायरेक्टर हरिवंश चतुर्वेदी का लेखः...
  • दिल और दिमाग दोनों को ठंडा रखता है कद्दू, पढ़ें इससे होने वाले 6 फायदे
  • आज का हिन्दुस्तान अखबार पढ़ने के लिए क्लिक करें।
  • राशिफलः वृश्चिक राशिवालों के आत्मविश्वास में वृद्धि होगी, मित्र के सहयोग से...
  • यूपी चुनावः चौथे चरण में 53 सीटों पर मतदान शुरू, 680 उम्मीदवार आजमा रहे हैं किस्मत

ईमेल-एसएमएस का जवाब न देने वालों को लेटर भेजेगा आयकर विभाग

नई दिल्ली| एजेंसी First Published:17-02-2017 09:07:01 PMLast Updated:17-02-2017 09:43:39 PM
ईमेल-एसएमएस का जवाब न देने वालों को लेटर भेजेगा आयकर विभाग

नोटबंदी के बाद 18 लाख लोगों द्वारा बैंक खातों में 4.5 लाख करोड़ से अधिक की संदिग्ध राशि जमा करने वालों को आयकर विभाग ने एसएमएस और ईमेल भेजा है। इन सवालों का जवाब नहीं देने वाले को विभाग असांविधिक पत्र जारी कर सकता है।

आयकर विभाग के वृहद डाटा विश्लेषण के अनुसार, नोटबंदी के बाद 50 दिन की अवधि में एक करोड़ बैंक खातों में दो लाख रुपये से अधिक की जमा राशि को मिलाकर कुल 10 लाख करोड़ रुपये जमा कराए गए। एक अधिकारी ने बताया कि इनमें से पांच लाख रुपये से ज्यादा राशि वाली 18 लाख से अधिक जमाओं की पड़ताल की जा रही है।

ये जमा राशि प्रथम दृष्टया संदिग्ध नजर आती है। विभाग ने संबंधित खाताधारकों से एसएमएस और ईमेल के जरिये 15 फरवरी तक इसके स्रोत की जानकारी मांगी थी। विभाग का कहना है कि अब तक सात लाख से अधिक लोगों ने इस तरह की जमाओं के बारे में जवाब दिया है। इसमें से 99 प्रतिशत से अधिक ने स्वीकार किया कि उक्त आंकड़े सही हैं।

अधिकारी के अनुसार, इन 18 लाख लोगों में से पांच लाख ने ई-फाइलिंग पोर्टल में पंजीकरण नहीं कराया है। इनके बारे में फील्ड अधिकारियों को सूचित किया जा चुका है। साथ ही जवाब नहीं भेजने वालों के बारे में भी बताया गया और ऐसे लोगों को पत्र जारी करने को कहा गया है। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने 8 नवंबर 2016 की रात पांच सौ और हजार के पुराने नोटों को बंद करने की घोषणा की थी। इसके बाद 50 दिन की अवधि में निश्चित स्रोत बताए बिना 4.5 लाख करोड़ रुपये की राशि विभिन्न बैंक खातों में जमा कराई गई।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: income tax dept will issue letter soon to whom who not revert through email or sms
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Jharkhand Board Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड