Image Loading tomar episode now will not cancellation of vns law institute accreditation - LiveHindustan.com
रविवार, 25 सितम्बर, 2016 | 05:46 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • जम्मू में आतंकियों के 2 गाइड गिरफ्तार
  • केरल LIVE: आतंकवाद को एक्सपोर्ट कर रहा पाकिस्तान : PM मोदी
  • केरल LIVE: PM मोदी का पाक पर हमला, कहा- एक देश खून खराबा करने में लगा
  • केरल के कोझिकोड की रैली में पीएम मोदी ने मलयालम में शुरू किया भाषण
  • KANPUR TEST: तीसरे दिन का खेल खत्म, मुरली-पुजारा की नाबाद फिफ्टी, भारत-159/1
  • बिहार: पटना जिले के फतुहा में एएसआई आरआर चौधरी को बदमाशों ने गोली मारी, मौत
  • KANPUR TEST: केएल राहुल 38 रन बनाकर आउट, भारत-52/1
  • KANPUR TEST: न्यूजीलैंड की पारी 262 पर सिमटी, भारत को 56 रनों की बढ़त
  • इराक की राजधानी बगदाद में तीन आत्मघाती बम धमाके, 11 सुरक्षा कर्मियों की मौत: AP
  • कानपुर टेस्ट: न्यूजीलैंड का छठा विकेट गिरा, स्कोर-255/6

तोमर प्रकरण: रद्द नहीं होगा वीएनएस लॉ संस्थान का संबंधन

भागलपुर, वरीय संवाददाता First Published:23-09-2016 03:35:11 PMLast Updated:23-09-2016 03:35:11 PM

दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री जितेन्द्र सिंह तोमर की फर्जी डिग्री मामले से चर्चा में आए वीएनएस इंस्टीट्यूट फॉर लीगल स्टडीज मुंगेर का संबंधन रद्द नहीं होगा। साथ ही इस संस्थान से डिग्री लेने वाले दूसरे छात्रों (तोमर को छोड़कर) की डिग्री पर भी तब तक कोई कार्रवाई नहीं होगी, जब तक डिग्री को कहीं से चुनौती न दी जाए। भागलपुर विवि के परीक्षा बोर्ड की बैठक में एक दिन पहले ही तोमर प्रकरण को लेकर संस्थान का संबंधन खत्म करने का प्रस्ताव रखा गया था, लेकिन विवि तकनीकी पेच बता रहा है।

प्रतिकुलपति प्रो. अवध किशोर राय ने बताया कि तोमर का दाखिला वीएनएस इंस्टीट्यूट फॉर लीगल स्टडीज मुंगेर में जब हुआ था, तब संस्थान को संबंधन ही नहीं था। 1992 से वर्ष 2000 तक इस संस्थान को संबंधन नहीं मिला था। 2001 में संबंधन मिला और पूर्व के छात्रों का पंजियन हुआ। तोमर का दाखिला सत्र 1994-97 में हुआ था। चूंकि, उस समय के छात्रों का पंजियन 2001 में कराया गया था, इसलिए कॉलेज का संबंधन रद्द करने का आधार नहीं बनता है और संबंधित छात्रों की डिग्री भी इससे प्रभावित नहीं होगी।

कोई चुनौती दे, तभी दूसरी डिग्री की जांच
प्रतिकुलपति ने बताया कि तोमर की तरह ही उस समय के दूसरे छात्रों की डिग्री को कोई चुनौती देता है तो उस उक्त छात्र की डिग्री की जांच की जाएगी। लेकिन, अभी तक ऐसा दूसरा और मामला नहीं आया है। मालूम हो कि वीएनएस इंस्टीट्यूट फॉर लीगल स्टडीज मुंगेर से अब तक करीब पांच हजार छात्रों ने पढ़ाई की है।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: tomar episode now will not cancellation of vns law institute accreditation
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड