class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दलितों का बिहार में रहना हो गया है दूभर: सुशील मोदी

केन्द्रीय विद्यालय में छात्र की पिटाई मामले में पूर्व उप मुख्यमंत्री और भाजपा नेता सुशील मोदी नीतीश सरकार पर जमकर बरसे। बुधवार को पीड़ित छात्र से मिलने के बाद पार्टी कार्यालय में प्रेस कांफ्रेस को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि बिहार में दलितों को रहना दूभर हो गया है। विधायक बलात्कार करते हैं और दबंग गरीबों के बच्चों को पढ़ने भी नहीं दे रहे हैं। बिहार की जनता दोराहे पर खड़ी है। कहां जाएं,क्या करें,पता नहीं चल रहा है।

घटना के लिए केन्द्रीय विद्यालय प्रशासन को भी दोषी बताते हुए मोदी ने कहा कि मामला प्रकाश में आते ही केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने गंभीरता दिखाई और कार्रवाई शुरू कर दी। प्राचार्य निलंबित किए जा चुके हैं और तेरह शिक्षकों का तबादला कर दिया गया है। मगर एक दलित छात्र की पिटाई पर बिहार सरकार अबतक चुप है। उस छात्र की मेडिकल जांच तक नहीं  कराई गई। दलित उत्पीड़न के तहत मुआवजा तक नहीं मिला है। 

उन्होंने कहा कि उस छात्र को दलित और उसमें भी मेधावी होने का खामियाजा भुगतना पड़ा है। छात्र और उसका पूरा परिवार सहमा हुआ है। पिटाई के समय ही मुंह खोलने पर हत्या की धमकी दी गई। इसके बावजूद जिला के प्रशासनिक अधिकारी न तो उसके परिवार को सुरक्षा मुहैया कराई और न ही हाल जानने की कोशिश की।  ऐसे हालात पूरे राज्य में बने हुए हैं।

मोदी ने कहा कि उनकी पार्टी उस बच्चे की आगे की पढ़ाई का पूरा खर्च वहन करेगी। इलाज कराने के लिए एम्स भेजेगी। उस छात्र के लिए अब उस स्कूल में जाना संभव नहीं लग रहा है। केन्द्रीय विद्यालय प्रशासन ने उन्हें आश्वस्त किया है कि यह बच्चा देश के किसी भी केन्द्रीय विद्यालय में पढ़ना चाहे तो पढ़ सकता है। अगर उसके अभिभावक आवासीय केन्द्रीय विद्यालय में रखना चाहेंगे तो उसकी व्यवस्था भी भाजपा करेगी। इस मौके पर भाजपा के जिलाध्यक्ष रामसूरत राय,विधायक केदार प्रसाद,पूर्व विधायक वीणा देवी,सुरेश चंचल सहित पार्टी के कई नेता मौजूद थे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:nitish govt has been anti dalit