Image Loading naxal could be subversive actions in foundation week aleart - LiveHindustan.com
मंगलवार, 27 सितम्बर, 2016 | 09:04 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • US Election Debate: ट्रंप की योजनाएं अमेरिका की अर्थव्यव्स्था के लिए ठीक नहीं, हमें सब के...
  • हावड़ा से दिल्ली की ओर जा रही मालगाड़ी पटरी से उतरी, सुबह की घटना, अभी रेल यातायात...
  • क्रिकेटर बालाजी 'रजनीकांत' के फैन हैं, आज बर्थडे है उनका। उनकी जिंदगी से जुड़े...

सावधान! बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं नक्सली

लखीसराय First Published:23-09-2016 08:47:55 PMLast Updated:23-09-2016 08:47:55 PM
सावधान! बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं नक्सली

21 से लेकर 28 सितंबर तक घोषित नक्सलियों के स्थापना सप्ताह को लेकर विध्वंसक कार्रवाई करने की फिराक में हैं नक्सली संगठन। प्रशासन के जारी अलर्ट के बीच जिले की पुलिस चप्पे-चप्पे पर सतर्कता बरते हुए है।

हाल के दिनों में पुलिसिया कार्रवाई से कमजोर पड़े नक्सली स्थापना सप्ताह के दौरान इसके लिए संगठन के कई शीर्ष नेता रणनीति बनाने में जुटे हुए हैं। इसके लिए नक्सलियों का दस्ता जिले के जंगलों में पहुंचा हुआ है, जिसकी भनक मिलते ही पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार द्वारा सीआरपीएफ, एसटीएफ, जिला पुलिस एवं कोबरा जवानों के सहयोग से पीछले तीन दिनों से पहाड़ की कंदराओं में नक्सलियों को दबोचने के लिए खोज अभियान चलाया जा रहा है। भरासेमंद सूत्रों पर यकीन करें तो अपने वरिष्ठ साथी चिराग दा की मौत के बाद बौखलाए नक्सली लखीसराय, जमुई, मुंगेर एवं बांका जिले में कहीं भी बड़ी घटना को अंजाम देने के फिराक में है।

नक्सलियों का महिला दस्ता भी पहुंचा

स्थापना सप्ताह को लेकर चानन के जंगलों में भी नक्सलियों का बड़ा दस्ता पहुंच गया है। इसमें महिला नक्सली भी शामिल है। सुरक्षाबलों को चकमा देने के ख्याल से नक्सलियों ने इस बार पैदल मार्ग का इस्तेमाल किया था। संगठन के एरिया कमांडर को इन्हें ठिकाने तक पहुंचाने का जिम्मा दिया गया था। जोनल आईजी सुशील मान सिंह खोपड़े ने जोन के बांका, मुंगेर, लखीसराय एवं जमुई पुलिस अधीक्षक को नक्सलियों की ओर से संभावित हिंसक कार्रवाई को लेकर सतर्क रहने को कहा है।

टीसीओसी के तहत बनाते हैं बड़ा निशाना

मालूम हो कि प्रतिबंधित संगठन सीपीआई माओवादी 21 से 28 सितम्बर तक स्थापना सप्ताह मनाते है। इस दौरान नक्सली नेताओं की बैठक होती है,और आगे की रणनीति बनाई जाती है। नक्सली साल में दो बार टीसीओसी यानी टैक्टिकल कांउटर ऑफेंसिव कैंपेन चलाते हैं। इसमें सुरक्षाबलों के कैंप, थाना या पुलिस पिकेट को निशाना बनाया जाता है। टीसीओसी साल में दो बार होता है। अप्रैल-मई एवं सितम्बर के आखिरी सप्ताह में हिंसक कार्रवाई ज्यादा होते है।

सघन छापेमारी जारी

पीरी बाजार थाना क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाकों में नक्सलियों की आने की खबर पर मुंगेर एवं लखीसराय पुलिस के द्वारा ज्वाईंट कॉम्बिंग ऑपरेशन चलाया जा रहा है। मुंगेर जिला से एएसपी अभियान एवं लखीसराय से कजरा सीआरपीएफ के कमांडेंट के नेतृत्व में सघन छापेमारी अभियान जारी है। थाना क्षेत्र के लहसोरबा, कटहरा, खुद्दीवन, सुअरकोल, बंगाली बांध, लठिया कोड़ासी आदि गांव में कॉम्बिंग ऑपरेशन जारी है। इस छापेमारी अभियन में पीरी बाजार, कजरा, मेदनीचौकी पुलिस के अलावा कजरा सीआरपीएफ के कमाण्डेंट, बीएमपी एवं जिला पुलिस बल शामिल थे।

अशोक कुमार, एसपी, लखीसराय ने बताया कि नक्सलियों के खिलाफ एक रणनीति के तहत ऑपरेशन जारी है। स्थापना सप्ताह के दौरान सभी पुलिस बल को सतर्क कर दिया गया है,साथ ही क्षेत्र में लगातार सर्च अभियान चलाया जा रहा है।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: naxal could be subversive actions in foundation week aleart
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड