Image Loading supoul kalim dead - LiveHindustan.com
शुक्रवार, 09 दिसम्बर, 2016 | 19:04 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • INDvsENG: दूसरे दिन का खेल खत्म, पहली पारी में भारत का स्कोर 146/1
  • पटना से दिल्ली जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस हुई रद। संपूर्ण क्रांति नियमित रूप...

कलीम की मौत बनी अनसुलझी पहेली

सुपौल | एक संवाददाता First Published:01-12-2016 10:57:41 PMLast Updated:01-12-2016 11:00:35 PM

कैदी कमील उर्फ घोलटा की मौत खुदकुशी है या हत्या सवालों के घेरे में हैं। हालांकि प्रथम दृष्टया पुलिस इसे खुदकुशी ही मान रही है। लेकिन परिस्थितिजन्य साक्ष्य हादसे पर सवाल उठा रहे हैं।

जिस रड के सहारे कलीम का शव लटकता हुआ बरामद किया गया वह जमीन से 12 फीट उपर है जिस तक बिना सहारे के पहुंच पाना नामुमकिन है। ऐसे कई अहम सवाल हैं जो खुदकुशी की बात पर सवाल उठा रहे हैं। यह लोगों के गले नहीं उतर रहा है कि बिना किसी सहारे के कैसे गले में फंदा लगाकरआत्महत्या किया होगा। क्योंकि इसके लिए वार्ड में कम से कम 7 फीट उंचा सामग्री की जरूरत हुई होगी तथा उसका भार थमने लायक भी होना चाहिए। जबकि पुलिस को उस स्थल से ऐसा कुछ भी बरामद नहीं हुआ है। फंदा लगाने के लिए जब समानों का उपयोग हुआ होगा तो सामान का गायब होना भी जांच का विषय है। खास यह है कि मंडल कारा सीसीटीवी की निगरानी में है। चर्चा यह है कि बिजली गई तो जेनरेटर क्यों नहीं चला या फिर चला तो सीसीटीवी कैमरा का ऑन नहीं होना। अब सवाल यह है कि क्या पूरा मामला सुनियोजित था जिसमें जेल प्रशासन की मिलीभगत तो नहीं थी? हालांकि यह जांच का विषय है, लेकिन परिजन जेल में टॉर्चर किए जाने का अरापे लगा रहे हैं।

सास हत्याकांड में जेल में बंद था कलीम : मृतक कलीम उर्फ घोलटा की दो शादी थी। पहली शादी में एक बच्चा भी है। जबकि दूसरी शादी उसने मधेपुरा जिले के गमहरिया गांव में की थी। उसने अपनी पहली पत्नी की मां सास की हत्या कर दिया था। मधुबनी जिला के अंध्रामठ थाना में कलीम के विरूद्ध कांड संख्या 52/16 दर्ज कराया गया। जबकि मरौना थाना में उसकी पहली पत्नी द्वारा कांड संख्या 61/16 दर्ज कराकर दहेज उत्पीड़न का आरोप लगाया गया था।

दो बार हाजत से भागने में हुआ था सफल : जानकार बताते हैं कि कलीम 8 अक्टूबर को जेल से भागने से पहले भी दो बार थाना हाजत से भाग चुका था। पहली बार मरौना व उसके बाद निर्मली थाना हाजत से भागने के बाद कुछ दिनों के बाद ही गिरफ्तार कर लिया गया। फिलहाल इस घटना को लेकर लोगों में तरह तरह के कयास लगाये जा रहे हैं लेकिन वास्तविकता जांच के बाद ही पता चल पायेगा। फिलहाल पुलिस के लिए विचाराधीन कैदी कलीम की संदेहास्पद मौत एक पहेली बनकर रह गयी है।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: supoul kalim dead
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड