Image Loading pickup van espir chiledrend - Hindustan
गुरुवार, 30 मार्च, 2017 | 10:18 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • बॉलीवुड मसाला: कपिल और सोनी चैनल ने ढूंढ लिया सुनील का ऑप्शन, शो में होगी नई...
  • टॉप 10 न्यूज: सुप्रीम कोर्ट में आज तीन तलाक, निकाह-हलाला और बहुविवाह पर सुनवाई,...
  • हेल्थ टिप्स: लू के साथ-साथ मुहांसों से भी बचाता है कच्‍चा आम, पढें 5 फायदे
  • हिन्दुस्तान ओपिनियन: पाकिस्तान मामलों के विशेषज्ञ सुशांत सरीन का विशेष लेख-...
  • मौसम दिनभर: दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, रांची, पटना और देहरादून में होगी कड़ी धूप।
  • ईपेपर हिन्दुस्तान: आज का समाचार पत्र पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।
  • आपका राशिफल: मिथुन राशि वालों को किसी सम्‍पत्‍ति से आय के स्रोत विकसित हो सकते...
  • टॉप 10 न्यूज : महोबा रेल हादसा-महाकौशल एक्सप्रेस के 6 डिब्बे पटरी से उतरे, 9 घायल,...
  • सक्सेस मंत्र : कोई भी काम करने से पहले एक बार सोच लें, क्लिक कर पढ़ें

दुरडीह में पिकअप वैन ने बच्ची को कुचला, मौत

रामगढ़ लखीसराय | एक प्रतिनिधि First Published:01-12-2016 10:30:07 PMLast Updated:01-12-2016 10:36:37 PM

रामगढ़चौक थाना क्षेत्र के शेखपुरा रोड स्थित दुरडीह गांव के समीप गुरुवार को सड़क हादसे में एक बच्ची की मौत हो गई। मृतक की पहचान दुरडीह गांव निवासी स्व़ मसुदन पंडित की 6 वर्षीय पुत्री रेणु कुमारी के रूप में की गई। रामगढ़ चौक थाना प्रभारी पंकज कुमार ने बताया कि पिकअप वैन गाड़ी मौके से फरार हो गयी, जिसकी पहचान नहीं की जा सकी है।

मिली जानकारी के अनुसार बच्ची अपने मां सुहागा देवी के साथ धान काटने के लिए गई हुई थी। वहां से लौटने के क्रम में वह सड़क किनारे होकर घर की ओर जा रही थी। उसी समय तेज रफ्तार आ रही पिकअप वैन गाड़ी ओवरटेक कर दूसरी गाड़ी से आगे निकलने का प्रयास कर रहा था। आगे निकलने की होड़ में पिकअप वैन चालक सड़क किनारे खड़ी बच्ची को रौंदते हुए फरार हो गया।

बच्ची रेणु बुरी तरह जख्मी हो गई और उसके सिर में गंभीर चोट लगी थी, घायल अवस्था में उसे सदर अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। शव को उसके परिजनों को सौंप दिया। एक भाई व पांच बहनों में रेणु सबसे छोटी थी। कुछ ही दिन पहले भाई राज्य से बाहर मजदूरी करने गया हुआ है। कर्ज लेकर जैसे-तैसे उसकी दो बहनों की शादी हुई है, जबकि पिता चार साल पहले सिर से पिता का साया उठ चुका है। ऐसे में एकमात्र भाई ही परिवार का सहारा है। रेणु की मौत के बाद अस्पताल में उसकी मां का रो-रोकर बुरा हाल था, शव से लिपट-लिपट कर रोते देख माहौल गमगीन हो गया था।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: pickup van espir chiledrend
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड