class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंगेर स्थापना दिवस पर बहेगी सुरों की गंगा

2 से 5 दिसंबर तक मनाया जाने वाला मुंगेर महोत्सव सह स्थापना दिवस की तैयारी पूरी हो चुकी है। अलग-अलग प्रतियोगिताओं और सांस्कृतिक कार्यक्रम को लेकर भी तैयारी पूरी कर ली गई है। स्थापना दिवस में कई कलाओं के संगम लोगों को देखने को मिलेंगे। महोत्सव की शाम को यादगार बनाने के लिए सुरों की महफिल भी सजेगी।

मुख्य कार्यक्रम का उद्घाटन जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह करेंगे। अध्यक्षता जिले के प्रभारी मंत्री कपिलदेव कामत करेंगे। विशिष्ट अतिथि के रूप में ग्रामीण कार्यमंत्री शैलेश कुमार मौजूद रहेंगे। कार्यक्रम में सांसद वीणा देवी, विधायक विजय कुमार विजय के अलावा अन्य जनप्रतिनधि और अधिकारी मौजूद रहेंगे।

एसडीओ डॉ. कुंदन कुमार ने कहा कि तैयारी पूरी कर ली गई है। इस दौरान नौका दौड़, क्विज प्रतियोगिता, हेल्दी बेबी शो, रक्तदान और सांस्कृति कार्यक्रम का आयोजन होगा।

2 दिसंबर के कार्यक्रम : 2 दिसंबर की दोपहर 3.30 बजे मोटरसाइकिल रैली निकाली जाएगी। साइकिल रैली समाहरणालय से शुरू होगी और अलग-अलग जगहों का भ्रमण कर कष्टहरणी गंगा घाट पहुंचकर खत्म होगी। इसके बाद 4.30 बजे से कष्टहरणी गंगा घाट पर महाआरती का आयोजन होगा और भजन संध्या का आयोजन होगा। 5.30 बजे दीपोत्सव मनाया जाएगा। शाम में नीली रौशनी से सरकारी भवनों व पोलो मैदान को सजाया जाएगा। भवन सज्जा प्रतियोगिता भी होगी।

3 दिसंबर के कार्यक्रम : सुबह 7.00 बजे प्रभात फेरी निकाली जाएगी। सुबह 9.00 बजे राजेंद्र उद्यान में पौधरोपण होगा। 9.30 बजे सदर अस्पताल में रक्तदान शिविर का आयोजन होगा। श्री कृष्ण सेवा सदन में स्थित डॉ. राजेंद्र प्रसाद और डॉ. श्रीकृष्ण सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया जाएगा। 11 बजे से पोलो मैदान में मुख्य उद्घाटन कार्यक्रम होगा। दोपहर 1 बजे स्टॉलों का उद्घाटन और निरीक्षण होगा। 1.30 बजे से पोलो मैदान में हेल्दी बेबी शो होगा। शाम 5 बजे से लोक गायिका देवी व अन्य कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे।

4 दिसंबर के कार्यक्रम : 11 बजे से श्री कृष्ण सेवा सदन में शराब बंदी एवं समाज पर इसका असर और शिक्षा में गुणात्मक सुधार विषय पर सेमिनार होगा। प्रमंडलीय सभागार में प्रमंडल स्तरीय प्रतिभा प्रतियोगिता का आयोजन होगा। दोपहर 12 बजे पोलो मैदान में फुटबाल मैच होगा। दोपहर बाद 4 बजे पोलो मैदान में योग पर आधारित कार्यक्रम होंगे। शाम 5 बजे से गायिका साधना सरगम व अन्य कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे।

5 दिसंबर के कार्यक्रम : सुबह 11 बजे बबुआ गंगा घाट पर नौका दौड़ प्रतियोगिता, पोलो मैदान में दोपहर 5 बजे से स्थानीय कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन होगा। इसके बाद रात 8 बजे स्मारिका का विमोचन किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:munger me bahegi suro ki ganga