class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कबैया थानाध्यक्ष के खिलाफ परिवाद दायर

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के न्यायालय में कबैया थानाध्यक्ष आशुतोष कुमार के विरुद्ध परिवाद-पत्र दायर किया है। कार्यकर्ता ने मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी नारायण दास शर्मा के क ोर्ट में 777 सी के तहत परिवाद दर्ज कराया है। आरोप है कि बंद कराने के दौरान अभाविप कार्यकर्ताओं को टाऊन थाना की पुलिस ने गिरफ्तार कर हाजत में बंद कर दिया, जहां कबैया थानाध्यक्ष ने उनलोगों की पिटाई कर दी।

फिलहाल परिवाद दायर करने के बाद सीजेएम ने विचारण के लिए एसीजेएम-3 दीपक कुमार की अदालत में मामला ट्रांसफर कर दिया है, जिसकी तारीख तीन दिसंबर शनिवार को है। कबैया थानाध्यक्ष के विरुद्ध धारा 323, 341, 384 व 504 के तहत गाली-गलौज व मारपीट का मामला दर्ज किया गया है।

नगर मंत्री पर जानलेवा हमले का था विरोध : मालूम हो कि बीते 21 नवंबर को को विद्यार्थी परिषद के नगर मंत्री प्रेम किशन पर हमला और अभियुक्तों की गिरफ्तारी नहीं होने के विरोध में कार्यकर्ताओं ने 24 नवंबर को एसपी अशोक कुमार का पुतला जलाया था। 25 नवंबर की शाम मशाल जुलूस निकाल 26 को बंद का आह्वान किया था। 27 की सुबह जब कार्यकर्ता बाजार बंद कराने निकले, तो दो घंटे के अंदर टाऊन थाना की पुलिस ने पांच कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया था। देर शाम सात बजे उन्हें थाने से छोड़ा गया था।

घटनाक्रम

21 नवंबर - अभाविप नगर मंत्री प्रेम किशन पर हमला

21 नवंबर - देर शाम कबैया थाने में प्राथमिकी

22 नवंबर - कार्यकर्ताओं की बैठक में घटना की निंदा

23 नवंबर - गिरफ्तारी की मांग को ले कार्यकर्ता एसपी से मिले

24 नवंबर - गिरफ्तारी नहीं होने पर एसपी का पुतला जलाया

25 नवंबर - मशाल जुलूस निकाला और 26 को बंद का आह्वान

26 नवंबर - बंद कराने निकले कार्यकर्ताओं की टाउन थाना में गिरफ्तारी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lakhisari kabaya thana encharg to case