class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एड्स रोगियों की मदद करें डॉक्टर: डीएम

गुरुवार को विश्व एड्स दिवस के अवसर पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से एड्स जागरूकता रैली निकाली गई। रैली को जिला पदाधिकारी ललन जी, डीडीसी मुकेश कुमार पांडेय, एसडीओ सुभाषनारायण, सीएस डा. श्याम चंद्र झा ने संयुक्त रुप से हरी झंडी दिखलाकर रवाना किया।

मौके पर जागरूकता संगोष्ठी, रक्तदान शिविर, कंबल वितरण आदि कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। जागरूकता रैली सदर अस्पताल परिसर से निकलकर शहीद चौक होते हुए बाटा चौक पर सभा में बदल गई। जिला पदाधिकारी ने कहा कि एड्स रोग पर नियंत्रण पाने के लिए स्वास्थ्य विभाग एवं बिहार राज्य एड्स नियंत्रण समिति से जुड़े अधिकारी और कर्मचारी निरंतर तत्पर है। उन्होंने कहा कि आम लोगों के साथ-साथ सदर अस्पताल के डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मी एड्स रोगियों को हर संभव

मदद करें।

एड्स रोगियों के साथ सौतेला व्यवहार व भेदभाव किसी भी स्थिति बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। रैली के बाद सदर अस्पताल परिसर स्थित एएनएम ट्रेनिंग सेंटर के सभागार में एड्स जागरूकता संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

मौके पर केएनपी प्लस सह समाधान सीएसस से जुड़े लोगों ने लोगों को एड्स पर नियंत्रण करने पर चर्चा की। मौके पर डीपीएम सौनिक प्रकाश ने कहा कि जिले में पहले प्रति एक हजार लोगों की जांच पर एक सौ एचआईवी रोगी मिलते थे लेकिन अब मात्र बीस से तीस रोगी ही मिल रहे हैं। वक्ताओं ने कहा कि एचआईवी संक्रमित गर्भवती महिलाओं का संस्थागत प्रसव के लिए सुरक्षित कीट पूर्ण रूप से उपलब्ध करने की व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि एड्स रोगियों को भी सभी प्रकार के सरकारी योजनाओं का लाभ मिलना चाहिए। इस मौके पर जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा. एसके गुप्ता, जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम निलेश कुमार, सदर अस्पताल के डीएस डा. योगेंद्र प्रसाद भगत, डा. लक्ष्मी रंजन प्रसाद, आभा कुमारी, मीनू कुमारी, पल्लवी कुमारी, रवि कुमार दिनेश कुमार,जीतेंद्र कुमार, भीम लाल, नीतू कुमारी, चंदन पाठक, इंद्रजीत प्रसाद, अंजना कुमारी, एआरटी के राहुल कुमार, डा. नसर रजा, रुबी कुमारी, मुकेश मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:adis marij ke madad kare doctor
From around the web