class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खुलेआम घूम रहा आरोपी सरपंच पति, सिर्फ पुलिस की नजरों में फरार

खुलेआम घूम रहा आरोपी सरपंच पति, सिर्फ पुलिस की नजरों में फरार

शंकरपुर के रामपुर लाही की सरपंच बबीता देवी के पति अरविन्द यादव पर न सिर्फ शंकरपुर पुलिस बल्कि पुलिस महकमे के आलाधिकारियों की भी कृपा दृष्टि रही है। पुलिस के पास इसका कोई जवाब नहीं है कि अक्सर एक बोतल शराब के साथ किसी को पकड़ने के बाद अपनी पीठ थपथपाने वाली पुलिस उत्पाद अधिनियम के तहत गंभीर धाराओं के मुख्य आरोपित सरपंच पति को आजतक क्यों नहीं पकड़ सकी।

यही नहीं जब से सरपंच पति उत्पाद अधिनियम मामले में मुख्य आरोपित बने हैं, तब से सैकड़ों बार अपनी सरपंच पत्नी बबीता देवी या अकेले उनके वाहन से प्रखंड मुख्यालय और कार्यालय चक्कर लगाते रहे हैं। शंकरपुर थाना ठीक प्रखंड कार्यालय के सामने ही है। बावजूद इसके आजतक उनको फरार माना जा रहा है। ग्रामीणों की माने तो ग्राम कचहरी के कई मामले जिसे सरपंच पति ही निबटाते हैं, में अक्सर उनकी शंकरपुर थानाध्यक्ष अमित कुमार से बात होती रहती है।

उनका कहना है कि थानाध्यक्ष के कॉल डिटेल से भी उनकी बातों की पुष्टि हो सकती है। बिना पुलिस की कृपा दृष्टि से यह संभव ही नहीं है कि दो-दो गंभीर मामलों के मुख्य आरोपित सरपंच पति अरविंद यादव खुलेआम घुमते रहें।

अब मुखर होने लगे लाही के ग्रामीण

उधर, सूत्र बताया जा रहा सरपंच पति अरविंद यादव के खिलाफ केस दर्ज होने और मीडिया में खबरें आने के बाद अब लाही के ग्रामीणों का एक खेमा मुखर हो रहा है। ग्रामीण अब खुल कर सरपंच पति के कारनामों का विरोध करने लगे है। गुरुवार को कुछ महिलाओं ने आरोप भी लगाया कि ग्राम कचहरी में उनके मामले को निबटाने के लिये सरपंच पति ने उनसे रुपये भी ऐठें हैं।

...सिर्फ पुलिस की नजर में फरार है सरपंच पति

मामला उत्पाद अधिनियम में आरोपित होने का हो या 6 अक्टूबर को गांव की एक महिला के साथ दुर्व्यवहार, यौन उत्पीड़न और जबरन दसरी शादी कराने का। इन मामलों में मुख्य आरोपित बने सरपंच पति अरविंद यादव सिर्फ पुलिस की नजरों में ही फरार हैं। सूत्रों और स्थानीय ग्रामीणों की माने तो दोनों मामले दर्ज होने के बाद से भी सरपंच पति अरविन्द यादव गांव और प्रखंड मुख्यालयों में छूटा घुम रहे हैं। महिला के साथ दुर्व्यवहार मामले में मंगलवार की रात सरपंच पति के सहयोगी मुनटुन यादव को तो पुलिस ने गिरफ्तार किया, लेकिन बताया गया कि सरपंच पति फरार हैं। हालांकि गांव वालों का कहना है कि सरपंच पति मंगलवार की रात को भी घर पर ही थे। उन्हें बुधवार और गुरुवार को भी गांव में ही देखा गया।

किन मामलों में हैं आरोपित

31 मार्च: पुलिस ने सरपंच पति अरविन्द यादव के घर पर छापेमारी कर भारी मात्रा में देशी शराब बरामद की थी। मामले में सरपंच पति अरविन्द यादव उनके भाई अर्जुन यादव और पिता मनोहर यादव आरोपित थे। पुलिस सिर्फ मनोहर यादव को ही गिरफ्तार कर सकी। 6 अक्टूबर: गांव की एक महिला और उसके घर आये एक युवक की बेहरमी से पिटाई के बाद दोनों के बाल काट मुंह में कालीख लगा कर घुमाया गया। फिर पहले से विवाहित महिला की उस युवक से जबरन शादी करायी गयी। वहीं विकास कुमार, एसपी मधेपुरा ने बताया कि लाही गांव की घटना में लापरवाही बरतने और संज्ञान नहीं लेने को लेकर थानाध्यक्ष अमित कुमार से शो कॉज मांगा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Excise Act and woman harassment: clement of police on Sarpanch husband