Image Loading kahalgaon NH 80: Agencies taking casually to repairs and patch work - LiveHindustan.com
शुक्रवार, 09 दिसम्बर, 2016 | 18:56 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • INDvsENG: दूसरे दिन का खेल खत्म, पहली पारी में भारत का स्कोर 146/1
  • पटना से दिल्ली जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस हुई रद। संपूर्ण क्रांति नियमित रूप...

कहलगांव NH 80 का हाल: सड़क मरम्मत में लापरवाही बरत रहीं एजेंसियां

भागलपुर, रवीन्द्र नाथ तिवारी First Published:02-12-2016 04:23:22 PMLast Updated:02-12-2016 04:24:25 PM

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के दौरे के नाम पर भागलपुर से कहलगांव के आगे रमजानीपुर तक ध्वस्त एनएच 80 की मरम्मत (पैच वर्क) कर उसे कारकेट के गुजरने लायक बनाने की कोशिश हो रही है। लेकिन पैच वर्क के नाम पर जिस तरह से चिप्पियां साटी जा रही हैं, वह कितने दिनों तक टिक पाएगी, इसपर लोगों को अभी से संदेह है। राष्ट्रपति के आने से पहले ही सड़क पहले की तरह बिखर न जाए। कई जगहों पर अभी से चिप्पियां उखड़ने लगी हैं।

राष्ट्रपति 26 नवम्बर को विक्रमशिला आने वाले थे लेकिन उनका कार्यक्रम 1 से 2 अप्रैल हो गया है। उनके कारकेट के लिए इंजीनियरिंग कॉलेज से कहलगांव के आगे रमजानीपुर तक एनएच 80 की मरम्मत का काम चल रहा है। यह काम पांच एजेंसियों के जिम्मे है। दो करोड़ से अधिक का ठेका है। गुरुवार को ‘हिन्दुस्तान ने देखा कि सबौर के आगे मसाढ़ू के पास सड़क के गड्ढे को जैसे-तैसे भरकर उस पर अलकतरा का पतली पर बिछाई जा रही थी।

एजेंसियां लापरवाह, समय पर काम नहीं

इस सड़क को राष्ट्रपति के दौरे 26 दिसम्बर के पहले बनाया जाना था लेकिन एजेंसियों की लापरवाही और सुस्ती के चलते अभी तक आधा काम भी नहीं हो पाया है। दौरा टलने के साथ कई जगह एजेंसियों ने काम रोक दिया है। पूरे रास्ते में मुश्किल से दो जगह काम होते देखा गया। जबकि जल्दी काम हो इसके लिए सड़क को पांच हिस्सों में बांटकर पांच एजेंसियों को ठेका दिया गया था।

नोटबंदी के कारण समय पर काम पूरा नहीं

अधीक्षण अभियंता लक्ष्मी नारायण सिंह ने कहा कि सड़क की मरम्मत मानक के अनुसार हो रही है। मरम्मत की उम्र छह महीने होगी। इसके पहले टूटने पर एजेंसी को फिर से मरम्मत करानी पड़ेगी। नोटबंदी और अलकतरा की कमी के चलते एजेंसियां समय पर मरम्मत काम पूरा नहीं कर पा रही हैं। काम जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा।

बिना बेस बनाए बिछा रहे अलकतरा

अधीक्षण अभियंता लक्ष्मीनारायण सिंह ने बताया कि सड़क के गड्डों को पत्थर से भरकर उसपर रोलर चलाकर समतल करना है। उसके बाद 25 एमएम मोटी छर्री और अलकतरा की परत बिछानी है। लेकिन सबौर से रमजानीपुर तक कई जगह देखा गया कि डस्ट, मिट्टी और गिट्टी डालकर गड्ढे भरे गए हैं। उस पर रोलर नहीं चलाया गया है। एनएच किनारे के ग्रामीणों ने बताया कि गिट्टी और अलकतरा की बहुत पतली चढ़ाई गई है। सबौर के रहने वाले राष्ट्रीय लोकजनशक्ति पार्टी के जिलाध्यक्ष दीपक वर्मा ने बताया कि खनकित्ता की ओर चार किमी सड़क बाढ़ में पूरी तरह खत्म हो गई थी। उसका बिना बेस बनाए उसपर अलकतरा का लेयर बिछा दिया गया है। वर्मा की मानें तो गड्ढों के धूल को कंम्प्रेशर से उड़ाकर उसे भरना है लेकिन केवल खानापूरी की जा रही है।

दो दिसम्बर से चलेंगी गाड़ियां और टूटेंगी सड़क

पीरपैंती के रहने वाले आरटीआई कार्यकर्ता विष्णु खेतान ने पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव को पत्र लिखकर पूछा है कि इतनी कमजोर मरम्मत वाली सड़क कितने दिन चलेगी? उन्होंने सचिव को बताया है कि मरम्मत को लेकर भागलपुर से पीरपैंती तक एनएच 80 पर बड़ी गाड़ियां का परिचालन दो दिसम्बर तक रोका गया है। उसके बाद इधर से रोज हजार-दो हजार ओवरलोडेड गाड़ियां गुजरने लगेंगी तो वैसे में यह सड़क कितने घंटे टिकेगी? एनएच के इंजीनियर यह स्वीकार रहे हैं कि गाड़ियों के चलने के साथ सड़क बिखरने लगेगी। एक इंजीनियर ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि समझिए कि गया दो करोड़ पानी में।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: kahalgaon NH 80: Agencies taking casually to repairs and patch work
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड