class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्य निर्वाचन आयुक्त के सामने आत्मदाह करने पहुंचा किसान गिरफ़्तार

परिवार के लोगों से जमीन का विवाद न सुलझने पर फतेहगंज पूर्वी इलाके का एक किसान शुक्रवार को बरेली दौरे पर पहुंचे राज्य निर्वाचन आयुक्त के सामने कथ‍ित रूप से आत्मदाह करने पहुंच गया। राज्‍य निर्वाचन आयुक्‍त एसके अग्रवाल उस समय कमिश्‍नरी में अफसरों की बैठक ले रहे थे। इसी दौरान रामप्रकाश नामक शख्‍स कमिश्नरी गेट से अंदर घुसने की कोश‍िश करने लगा। सुरक्षाबलों की नजर उस पर पड़ गई और उसे ह‍िरासत में ले लिया। उसे कोतवाली पुलिस के हवाले कर द‍िया गया है ।

रामप्रकाश यादव नामक यह किसान पहले भी कई बार आत्‍मदाह की धमकी दे चुका था। इसलिए उसे देखते ही पुलिस टेंशन में आ गई है। कोतवाली पुलिस का कहना है क‍ि कमिश्‍नरी गेट से पकड़े गए किसान के पास से कोई ऐसी चीज नहीं मिली है। उसकी पहले की हरकतें देखते हुए फ‍िलहाल उसे रात तक हिरासत में रखा गया है। वहीं, फतेहगंज पूर्वी क्षेत्र के गांव टिसुआ के रहने वाले रामप्रकाश ने बताया क‍ि उसके पिता अकेले भाई थे, जबकि चाचा चार भाई थे। इसके बावजूद संपत्ति का बंटवारा बराबर किया गया, जबकि मेरे पिता को आधा हिस्सा मिलना चाहिए था। इसके अलावा खरीदी गई 20 बीघा जमीन में चाचा ने रामप्रकाश को हिस्सा नहीं दिया। न्याय के लिए वह लेखपाल से लेकर डीएम, कमिश्नर तक शिकायत कर चुका है, लेकिन उसकी समस्या का निस्तारण नहीं हुआ। कोतवाली पुलिस की हिरासत में रामप्रकाश ने कहा कि कि वह आत्मदाह करने नहीं बल्कि प्रशासन के आंख-कान खोलने आया था, ताकि उसे न्याय मिल सके। पुलिस उसके खिलाफ शांति भंग के मामले में कार्रवाई की तैयारी में है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:young man tried for suicide in front of state election commissioner