class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खातों में पैसा फिर भी पाई-पाई को मोहताज

महीना गुजरने के बाद सरकारी कर्मचारियों के खातों में वेतन पहुंच गया। सेलरी का मैसेज भी उनके मिल गया। लेकिन, खर्चा चलाने के लिए उनके रुपये बैंक से नहीं निकल पा रहे।

कर्मचारी हर रोज बैंक जाते हैं। बैंक की भीड़ देखकर वापस लौट आते हैं। अब उनके सामने संकट खड़ा हो गया कि रुपये नहीं मिलने से महीने का खर्च कैसे चलेगा। बच्चों की फीस, राशन, अखबार और बिजली का बिल आदि देने की दिक्कत हो गई। हालांकि, कर्मचारियों का कहना है कि वह बैंक या एटीएम में लाइन में लगकर किसी तरह रुपयों को निकालेंगे। वहीं दूसरी तरफ बैंक ने भी कर्मचारियों के लिए कोई राहत नहीं दी है। कर्मियों के लिए कोई अतिरिक्त काउंटर नहीं खोला गया। ऐसे में कर्मचारियों को दिक्कत हो गई कि वह ड्यूटी करें या फिर बैंक में लाइन में लगे।कई दिन से लगा रहे चक्करफोटो नंबर 52-रुथ कौशल=रुपये निकालने के लिए कई दिनों से बैंक के चक्कर लगा रहे हैं। सिर्फ एक बार ही दो हजार रुपये मिल पाए थे। उसके बाद से लगातार कैश नहीं होने की बात कहकर वापस कर दिया जाता है। सरकारी कर्मचारियों के लिए बैंकों को अलग से इंतजाम करना पड़ेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:salary accounts come out of the worst hit banks