Image Loading human trafficking by rogues in Police uniform - LiveHindustan.com
सोमवार, 05 दिसम्बर, 2016 | 09:54 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • पढ़ें वरिष्ठ हिंदी लेखक महेंद्र राजा जैन का ये लेख, 'उनके लिए तो नाम में ही सब कुछ...
  • पढ़ें मिंट के संपादक आर सुकुमार का ब्लॉग, 'नए मानकों की तलाश करते कारोबार'
  • चेन्नईः जयललिता की सलामती के लिए समर्थक कर रहे हैं दुआ, अपोलो अस्पताल के बाहर...
  • एक ही नजर में शिखर धवन को भा गई थीं आयशा, भज्जी बने थे लव गुरु। क्लिक करके पढ़ें...
  • भविष्यफल: धनु राशिवाले आज आत्मविश्वास से परिपूर्ण रहेंगे और परिवार का सहयोग...
  • हेल्थ टिप्स: ये हैं हेल्दी लाइफस्टाइल के 5 RULE, डाइट में शामिल करने से पेट रहेगा फिट
  • GOOD MORNING: जयललिता को दिल का दौरा पड़ा, अस्पताल के बाहर जुटे हजारों समर्थक, अन्य बड़ी...

निघासन खीरी में पुलिस की वर्दी में आए बदमाशों ने डाला डाका

निघासन-खीरी, हिन्दुस्तान संवाद First Published:02-12-2016 12:39:25 PMLast Updated:02-12-2016 12:52:11 PM

गौतमबुद्धपुरम मोहल्ले में दो सगे भाइयों के घरों में घुसे असलहाधारी नकाबपोश बदमाशों ने जमकर लूटपाट की। दीवार फांदकर अंदर घुसे इन बदमाशों ने पुलिस की वर्दी पहन रखी थी। परिवार के सभी सदस्यों को एक जगह बिठाकर असलहों के दम पर बंधक बना लिया। लूटपाट के दौरान विरोध करने पर एक महिला को थप्पड़ों से पीटा। पुलिस ने चोरी की रिपोर्ट दर्ज की है।

कस्बा व कोतवाली निघासन के मोहल्ला गौतमबुद्ध पुरम के रहने वाले दो भाइयों मुकेश कुमार और राजेंद्र के घर आसपास ही हैं। दोनों छोटी-मोटी दुकानें व मेहनत-मजदूरी करके पेट पालते हैं। बुधवार रात करीब दो बजे मुकेश के घर की दीवाल फांदकर एक बदमाश अंदर घुस गया। इसके बाद उसने दरवाजे की सांकल खोल दी। बाहर खड़े उसके तीन और साथी अंदर घुस गए। मुकेश के मुताबिक इन असलहाधारी बदमाशों ने अपने चेहरे नकाब में छिपा रखे थे। बकौल मुकेश इनके कुछ साथी घर के बाहर भी मौजूद थे। इन लोगों ने घर में मौजूद सभी सदस्यों को असलहे दिखाकर बंधक बनाते हुए एक कमरे में बिठा लिया। दो बदमाश वहीं असलहे लिए डटे रहे और बाकी ने घर के कमरों में रखी आलमारी व बक्सों को खोलकर उनमें रखे बीस हजार रुपये और उसकी पत्नी के नाक के फूल, पायल, झुमकी, कुंडल आदि जेवर तथा मोबाइल आदि कब्जे में कर लिया। इसके बाद सबको शोर मचाने पर जान से मार देने की धमकी देकर निकल गए। जाते-जाते बदमाशों ने कमरे को बाहर से बंद कर दिया।

इसके बाद बदमाश पड़ोस में ही बने उसके बड़े भाई राजेंद्र के घर जा धमके। राजेंद्र किसी काम से नेपाल गया हुआ था। बदमाशों ने घर पर मौजूद उसकी पत्नी रामगुनी और बेटों आशीष कुमार तथा विपिन कुमार को असलहे दिखाकर एक कमरे में बंदकर दिया। उनके घर भी सामान खंगालते हुए एक हजार नकद और कुछ जेवर लूट लिए। विरोध करने पर एक बदमाश ने रामगुनी को थप्पड़ मारते हुए खामोश रहने को कहा। कुछ ही देर में लूटपाट कर बदमाश रामगुनी और उसके बेटों को कमरे में बंद करके घर के मेन दरवाजे से निकल गए। रामगुनी के मुताबिक बदमाशों ने खाकी वर्दी पहन रखी थी और इसी इलाके की भाषा बोल रहे थे। किसी तरह बाहर निकलने के बाद मुकेश ने सौ नंबर पर फोन किया। इसके कुछ देर बाद पुलिस पहुंची। कोतवाल हृषिकेश यादव ने पीड़ित की तहरीर पर चोरी का मुकदमा दर्ज कर लेने और घटना के जल्न्द खुलासे की बात कही है।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: human trafficking by rogues in Police uniform
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड