class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेलवे स्टेशन और रोडवेज पर स्वाइप मशीन न होने से हो रही परेशानी

नोट बंदी के बाद देश को कैशलैस करने को लेकर एक के बाद एक वित्तमंत्रालय के निर्देश जारी हो रहे हैं। इसके बावजूद जिले में रेलवे और रोडवेज बस स्टैंड पर यात्रियों को कैशलैस पेमेंट की सुविधा नहीं मिल रही है। रेलवे स्टेशन और रोडवेज बस स्टैंड पर अब तक स्वाइप मशीनें नहीं लगी गई हैं। इस कारण यात्रियों को छोट नोट देकर एमएसडी बनवानी पड़ रही है।

कैशलैस सुविधा के अभाव में यात्रियों को टिकट भी नहीं मिल पा रहा है। नोट बंदी के साथ ही घोषणा की गई थी डेबिट और क्रेडिट कार्ड से भुगतान पर किसी प्रकार की रोक नहीं रहेगी। सरकारी संस्थानों से लेकर प्राइवेट फर्म स्वामियों तक को बैंकों में आवेदन कर स्वाइप मशीन लेने को कहा गया था। इसके बाद वित्तमंत्रालय से कैशलैस पेमेंट की योजना को लेकर बार-बार निर्देश जारी हो रहे हैं। फिर भी शहर के रोडवेज बस अड्डे पर अब तक कैशलैस पेमेंट की सुविधा शुरू नहीं की गई है। यात्रियों की जेब में छोटे नोट हैं नहीं और कैशलैस की सुविधा मिल नहीं रही। इस कारण यात्री एमएसटी और ओपन कार्ड नहीं बनवा पा रहे है। हालांकि इस बारे में एआरएम का कहना है कि मशीन के लिए बैंक में आवेदन कर दिया गया है। मशीन आते ही यात्री डेबिट और क्रेडिट से भुगतान कर सकते हैं। इधर, रेलवे स्टेशन पर भी अब तक स्वाइप मशीनें नहीं आ पाई हैं। स्टेशन पहुंचने वाले यात्रियों को एक हजार और पांच सौ का नोट देने पर टिकट नहीं मिल रहा है। डेबिट और क्रेडिट कार्ड देने पर स्वाइप मशीन न होने की बात कहते हुए वापस कर दिया जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Railways and roadways were not equipped cache
From around the web