class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीडब्ल्यूडी ने गायब कर दी सीएम के सांसद भाई की फाइल

बदायूं। हिन्दुस्तान संवाद

पीडब्ल्यूडी अफसरों की लापरवाही में करोड़ों के काम के प्रस्ताव की फाइल लखनऊ पहुंचने से पहले ही गायब हो गई। जबकि सांसद धर्मेंद्र यादव ने कामों की सूची देकर काफी पहले अफसरों को प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजने को कहा था। अब फाइल गायब होने की जानकारी के बाद शासन ने एक्सईएन को रिमाइंडर भेजकर इस पर जवाब मांगा है।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के भाई और बदायूं सांसद धर्मेन्द्र यादव जहां जिले के विकास में किसी प्रकार की कमी छोड़ना नहीं चाहते हैं वहीं अब पीडब्ल्यूडी के अफसरों ने इनकी राह में रोड़ा अटकाना शुरू कर दिया है। सांसद द्वारा दिए जाने वाले कामों की सूची को पीडब्ल्यूडी का बड़े से लेकर छोटे तक कोई भी अधिकारी गंभीरता से नहीं ले रहा है। यही वजह है कि करीब चार महीने पहले पीडब्ल्यूडी के निर्माण खंड के एक्सईएन को जिले के नौ मार्गों के निर्माण के लिए उपलब्ध कराई गई सूची के प्रस्ताव शासन तक अब तक नहीं पहुंच पाए। विभागीय सूत्रों की माने तो कामों की प्रस्ताव सूची मिलने के बाद तत्काल ही तैयार करा लिया गया है। लेकिन अफसरों की लापरवाही में फाइल विभाग से ही कहीं गुम हो गई। इधर, प्रस्ताव न मिलने की जानकारी जब लखनऊ बैठे अधिकारियों को हुई तो उन्होंने तत्काल इस पर संज्ञान लेते हुए एक्सईएन को रिमाइंडर भेज दिया। प्रस्ताव की फाइल भेजने के साथ ही इनसे जवाब तलब भी किया गया है। एक्सईएन की सुनिएएक्सईएन एमसी शर्मा का कहना है कि विभाग की ओर से प्रस्ताव तत्काल ही बना लिए गए थे। इसके बाद फाइल को लखनऊ भी भेजा गया था। फाइल लखनऊ पहुंचकर ही गायब हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:PWD vanished file of brother CM Akhilesh