class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हर उच्च प्राथमिक विद्यालय के बच्चों को मिलेगी साइंस किट

जिले के उच्च प्राथमिक विद्यालय के बच्चे भी वैज्ञानिक बन सकेंगे। उन्हें साइंस की जानकारी उपलब्ध कराने के लिए विज्ञान किट दी जाएगी। किट को खरीदने के लिए हर विद्यालय में धनराशि का भुगतान कर दिया गया। उद्देश्य है कि प्रत्येक छात्र-छात्राओं को विज्ञान के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाए। बच्चे प्रयोग भी कर सकेंगे।

एनसीईआरटी नई दिल्ली ने हर जूनियर विद्यालय को साइंस किट खरीदने के लिए निर्देश दिए हैं। उस किट के माध्यम से छात्र-छात्राओं को विज्ञान के बारे में जानकारी दी जाएगी। किट के लिए आठ हजार रुपये का भुगतान विद्यालय के खातों में भेज दिया गया। अब उन रुपयों से किट को खरीदने की तैयारी चल रही है।उच्च प्राथमिक विद्यालय को मिलने वाली साइंस किटों में खेल किया जा रहा है। अब हरियाणा की एक कंपनी से किट खरीदने पर जोर दिया जा रहा है। बहुत से हेड मास्टरों से वर्कआर्डर भी भरवा लिए गए हैं। जिससे उसी कंपनी से किट को खरीदवा सकें। बच्चों को मिलने वाली किट के लिए हर विद्यालय को आठ हजार रुपये की धनराशि का भुगतान किया गया। उन रुपयों से किट को खरीदा जाएगा। यह भुगतान एक महीने पहले कर दिया गया। किट को खरीदने के लिए अब तैयारी शुरू की गई। अफसरों की मानें तो किट में 132 तरह की चीजे हैं। जिससे छात्र-छात्राएं विज्ञान के बारे में जानकारी जुटा सकेंगे। उसमें अलमारी, भौतिक तुला आदि शामिल हैं। बीएसए देवेंद्र पांडेय ने बताया कि जूनियर विद्यालयों को साइंस किट दी जानी हैं। इन किटों को आठ कंपनियों के माध्यम से खरीद जा सकता है। बहुत से कंपनी वाले प्रधानाध्यापकों के संपर्क में हैं। विद्यालयों को धनराशि ट्रांसफर कर दी गई। कोशिश है कि सभी किटें एक जैसी हों, जिससे आडिट में किसी तरह की दिक्कत नहीं आए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Junior High School Children Would Become Scientists In Shahjahanpur