class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बदायूं के थानों में अब अंकित होंगे डीजीपी तक मोबाइल नंबर

अभी तक हर थाने में थानेदार के अलावा उस दिन के डे अफसर और नाइट अफसर का जिक्र होता था। थानेदार का नाम भी पेंट किया जाता था और उसका सीयूजी नंबर नाम के आगे दर्ज होता था। वहीं थाने के बाहर लगने वाले बोर्ड पर पूरे जिले के पुलिस अधिकारियों और थानेदारों के सीयूजी नंबर अंकित किए जाते थे।

लोकलस्तर पर बड़ी घटनाएं दबाने के कई मामले प्रकाश में आने पर डीजीपी ने नया सकुर्लर जारी किया है। इसके तहत अब थाने में डीजीपी के बाद एडीजी कानून व्यवस्था, आईजी, डीआईजी और उसके बाद एसएसपी व संबंधित सीओ का नंबर लिखा जाएगा। ताकि किसी भी समस्या का समय रहते समाधान न होने पर फरियादी उच्च अधिकारियों से संपर्क साध सके। कहीं से भी काम बनता न दिखे तो सीधे डीजीपी को भी फोन किया जा सकता है। जिले के अधिकांश थाने में फिलहाल यह व्यवस्था लागू नहीं की गई है। एसएसपी महेंद्र यादव ने सभी थानेदारों को सकुर्लर का पालन करने का निर्देश दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:DGP stations will now face the mobile number