class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अधूरे ट्रैक पर पूरी होगी सीआरएस निरीक्षण की औपचारिकता

अधूरे ट्रैक पर पूरी होगी सीआरएस निरीक्षण की औपचारिकता

भोजीपुरा-पीलीभीत बड़ी रेल लाइन का गुरुवार को सीआरएस निरीक्षण होना है। निरीक्षण के लिए टीम सुबह आठ बजे भोजीपुरा पहुंचेगी। इसके बाद अधिकारी यहां से पीलीभीत तक ट्रैक का निरीक्षण करेंगे। जिस ट्रैक का कार्य ही अभी तक पूरा नहीं हो सका है, उस ट्रैक पर सीआरएस निरीक्षण को लेकर कई सवाल उठाए जा रहे हैं।

भोजीपुरा-पीलीभीत रूट पर बड़ी रेल लाइन का काम नौ महीने में भी पूरा नहीं हो सका है। मात्र 40 किलोमीटर के इस ट्रैक पर छोटी लाइन को बड़ी लाइन में बदलने का काम इसी साल जनवरी में शुरू हुआ था। तब अधिकारियों का दावा था कि मार्च में ही गेज कंवर्जन का काम पूरा हो जाएगा। इसके बाद जब भी विभाग के आला अधिकारी निरीक्षण को आए वह कार्य पूरा होने की अवधि बढ़ाते ही चले गए। यह अवधि बढ़ते-बढ़ते अक्तूबर तक पहुंच गई पर कार्य अभी भी पूरे नहीं हो सके हैं। इसके बाद भी रेल अधिकारी सितंबर से ही इस ट्रैक का सीआरएस निरीक्षण कराने की बात कहते रहे। इस निरीक्षण को लेकर पिछले महीने से ही चल रही कवायद गुरुवार को पूरी होगी।

दिसंबर तक भी ट्रेनों के संचालन की उम्मीद नहीं

पीलीभीत स्टेशन में बड़ी रेल लाइन से जुड़े कार्यों की जो स्थिति है उससे इस ट्रैक पर ट्रेनों के संचालन की उम्मीद दिसंबर तक भी नहीं है। यह नाउम्मीदी जता रहे हैं खुद रेल से जुड़े लोग। इसका मुख्य कारण है अभी तक यहां प्लेटफार्म का तैयार न हो पाना, ट्रैक पर सिग्नल सिस्टम का पूरा न हो पाना, स्टेशन पर छोटी लाइन के यात्रियों के आने-जाने के लिए नए ओवर ब्रिज का निर्माण न हो पाना सहित यात्री सुविधाओं से जुड़े कई अन्य कार्यों का पूरा न हो पाना। यहां ट्रैक से जुड़े कार्य पूरा करने में जुटे कर्मचारियों का मानना है कि अभी कई कार्य बचे हुए हैं। इनको पूरा होने में ही एक महीने से अधिक का वक्त लगेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CRS incomplete fulfillment on track inspection formality