class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आज है शीतलाष्टमी, इस दिन खाया जाता है बासी भोजन 

आज है शीतलाष्टमी, इस दिन खाया जाता है बासी भोजन 

चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को शीतला सप्तमी-अष्टमी का पर्व मनाया जाता है। हिंदू व्रतों में केवल शीतलाष्टमी का व्रत ही ऐसा है जिसमें बासी भोजन किया जाता है। इसका उल्लेख पुराणों में भी मिलता है। ऐसी मान्यता है कि जिस घर की महिलाएं साफ मन से इस व्रत को करती है, उस परिवार को शीतला देवी धन-धान्य से पूर्ण कर प्राकृतिक विपदाओं से दूर रखती हैं।

मां शीतला का पर्व पूरे देश में कहीं न कहीं मनाया जाता है। इस पर्व को बसोरा भी कहते हैं। बसोरा का अर्थ है बासी भोजन। शीतला माता हर तरह के तापों का नाश करती हैं। इस दिन घर में ताजा भोजन नहीं बनाया जाता। एक दिन पहले ही भोजन बनाकर रख देते हैं। फिर दूसरे दिन सुबह महिलाओं द्वारा शीतला माता का पूजन करने के बाद घर के सब व्यक्ति बासी भोजन को खाते हैं। कहते हैं कि नवरात्रि के शुरू करने से पहले यह व्रत करने से मां के वरदहस्त अपने भक्तों पर रहते हैं।  

पढ़े : घर में झाड़ू करते वक्त हमेशा ध्यान रखें ये बातें
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:shitlamata devi fast tomorrow