Image Loading madhya pradesh tikamgarh kundeshwar temple of lord shiva - Hindustan
गुरुवार, 30 मार्च, 2017 | 10:12 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • बॉलीवुड मसाला: कपिल और सोनी चैनल ने ढूंढ लिया सुनील का ऑप्शन, शो में होगी नई...
  • टॉप 10 न्यूज: सुप्रीम कोर्ट में आज तीन तलाक, निकाह-हलाला और बहुविवाह पर सुनवाई,...
  • हेल्थ टिप्स: लू के साथ-साथ मुहांसों से भी बचाता है कच्‍चा आम, पढें 5 फायदे
  • हिन्दुस्तान ओपिनियन: पाकिस्तान मामलों के विशेषज्ञ सुशांत सरीन का विशेष लेख-...
  • मौसम दिनभर: दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, रांची, पटना और देहरादून में होगी कड़ी धूप।
  • ईपेपर हिन्दुस्तान: आज का समाचार पत्र पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।
  • आपका राशिफल: मिथुन राशि वालों को किसी सम्‍पत्‍ति से आय के स्रोत विकसित हो सकते...
  • टॉप 10 न्यूज : महोबा रेल हादसा-महाकौशल एक्सप्रेस के 6 डिब्बे पटरी से उतरे, 9 घायल,...
  • सक्सेस मंत्र : कोई भी काम करने से पहले एक बार सोच लें, क्लिक कर पढ़ें

भोलेनाथ के इस मंदिर में हर साल चावल के दाने के बराबर बढ़ता है शिवलिंग

नई दिल्ली, लाइव हिन्दुस्तान टीम First Published:17-02-2017 04:08:08 PMLast Updated:17-02-2017 05:05:57 PM
भोलेनाथ के इस मंदिर में हर साल चावल के दाने के बराबर बढ़ता है शिवलिंग

मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले में स्थित है भगवान शिव का कुंडेश्वर मंदिर। कहा जाता है भगवान यहां पिंडी रुप में प्रकट हुए थे। यह मंदिर ज्योतिर्लिंगों में से एक है। इस मंदिर की मान्यता है कि यहां से सभी की हर मनोकामना तो पूरी होती ही है साथ ही यहां से भोले शंकर को सिर्फ जल का अभिषेक करने से लंबी आयु का वरदान मिलता है। सावन का महीना हो या शिवरात्रि यहां भक्तों का तांता लगा रहता है।

हर साल चावल के दाने के बराबर बढ़ते हैं भगवान शिव
कहा जाता है कि कुंडेश्वर मंदिर में भगवान पिंडी रुप में प्रकट हुए थे। यहां के स्थानीय लोगों और पुजारियों की मानें तो भगवान शिव यहां हर साल चावल के दाने के बराबर बढ़ते हैं। यह भी मान्यता है कि यहां भगवान शिव की पूजा का कोई बड़ा विधि-विधान नहीं है, यहां बस जल अर्पित करने से ही भगवान शिव प्रसन्न हो जाते हैं। काफी सालों से मंदिर की सेवा में लगे लोगों का कहना है कि यहां शिवलिंग हर साल चावल के दाने के बराबर बढ़ जाते हैं। कहा जाता है कि राजकुमारी ऊषा यहां भगवान शिव की पूजा करती थी और उसे ही सपने में भगवान शिव ने कहा कि वो यहां प्रकट होंगे।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: madhya pradesh tikamgarh kundeshwar temple of lord shiva
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड