class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भोलेनाथ के इस मंदिर में हर साल चावल के दाने के बराबर बढ़ता है शिवलिंग

भोलेनाथ के इस मंदिर में हर साल चावल के दाने के बराबर बढ़ता है शिवलिंग

मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले में स्थित है भगवान शिव का कुंडेश्वर मंदिर। कहा जाता है भगवान यहां पिंडी रुप में प्रकट हुए थे। यह मंदिर ज्योतिर्लिंगों में से एक है। इस मंदिर की मान्यता है कि यहां से सभी की हर मनोकामना तो पूरी होती ही है साथ ही यहां से भोले शंकर को सिर्फ जल का अभिषेक करने से लंबी आयु का वरदान मिलता है। सावन का महीना हो या शिवरात्रि यहां भक्तों का तांता लगा रहता है। 

हर साल चावल के दाने के बराबर बढ़ते हैं भगवान शिव
कहा जाता है कि कुंडेश्वर मंदिर में भगवान पिंडी रुप में प्रकट हुए थे। यहां के स्थानीय लोगों और पुजारियों की मानें तो भगवान शिव यहां हर साल चावल के दाने के बराबर बढ़ते हैं। यह भी मान्यता है कि यहां भगवान शिव की पूजा का कोई बड़ा विधि-विधान नहीं है, यहां बस जल अर्पित करने से ही भगवान शिव प्रसन्न हो जाते हैं। काफी सालों से मंदिर की सेवा में लगे लोगों का कहना है कि यहां शिवलिंग हर साल चावल के दाने के बराबर बढ़ जाते हैं। कहा जाता है कि राजकुमारी ऊषा यहां भगवान शिव की पूजा करती थी और उसे ही सपने में भगवान शिव ने कहा कि वो यहां प्रकट होंगे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:madhya pradesh tikamgarh kundeshwar temple of lord shiva
From around the web