class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गंगा को प्रदूषणरहित बनाने में जापान का सहयोगः रमेश

गंगा को प्रदूषणरहित बनाने के लिए अब जापान भी सहयोग करेगा। केंद्रीय पर्यावरण राज्यमंत्री जयराम रमेश ने कहा है कि केंद्र सरकार वास्तव में पवित्र गंगा की दुर्दशा समाप्त करने के लिए कटिबद्ध और वह हर कीमत पर उसकी पवित्र धारा को निर्मल और अविरल बनायेगी। गंगा के निर्मलीकरण के लिए जापान सहयोग देने आगे आया है। वाराणसी में 140 एमएलडी के सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के लिए 490 करोड़ रूपये की परियोजना को मंजूरी दे दी गयी है।

रमेश ने कहा कि वर्ष 2030 की आबादी को ध्यान में रखते हुए सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) स्थापित किए जा रहे हैं। जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय शहरी नवीनीकरण योजना के तहत सथवां में 120 एमएलडी का एसटीपी स्थापित किया जाएगा। पहले की योजनाओं में कमी इसी बात की थी कि बढ़ती आबादी का ख्याल नहीं रखा गया था।

उन्होंने कहा कि एसटीपी के संचालन को लेकर दिक्कतें सामने आती रही हैं और अब एक प्रस्ताव यह है कि पहले पांच साल के लिए एसटीपी के रखरखाव तथा संचालन पर होने वाले खर्च का भार केंद्र सरकार उठाएगी।
इसके बाद इनके रखरखाव की जिम्मेदारी संबंधित नगर निकायों की होगी। केंद्र सरकार की ओर से गठित समिति ने अपनी रिपोर्ट प्रधानमंत्री को सौंप दी है और जल्द ही गंगा बेसिन प्राधिकरण की बैठक में अंतिम फैसला ले लिया जाएगा। उम्मीद है कि इस प्रस्ताव पर जल्द ही फैसला हो जाएगा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गंगा को प्रदूषणरहित बनाने में जापान का सहयोगः रमेश