class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिग्नल फेल होने से ट्रेनों की रफ्तार में लगा ब्रेक

लगातार फेल होते सिग्नल ने बुधवार को आगरा-दिल्ली रूट पर ट्रेनों के आवागमन पर ब्रेक लगा दिया। रूंधी स्टेशन पर पाँच घंटे और आझई में डेढ़ घंटे तक सिग्नल फेल रहा। इससे अप-डाउन की ट्रेनों के संचालन पर खासा असर पड़ा।

आझई रेलवे स्टेशन के पास सिग्नल फेल होने से कांगो, तूफान, महाकौशल, यशवंतपुर संपर्क क्रांति, गोल्डन टेंपल, जनशताब्दी समेत लगभग एक दजर्न ट्रेनें लेट हो गयीं। रूंधी स्टेशन पर पाँच घंटे तक सिग्नल फेल रहा। ट्रेनों को आपात इंतजामों के जरिए संचालित किया गया। सिग्नल फेल होने की घटना मथुरा, शोलाका, कोसी स्टेशनों पर भी हुई। मथुरा में दो घंटे तक सिग्नल ठीक नहीं किया जा सका, जबकि दूसरे स्टेशनों पर भी आधा घंटा का टाइम लग गया।

एक साथ सिग्नलों में खराबी आने की वजह से रेल कर्मचारियों को काम करने का मौका भी नहीं मिल सका। ऐसे में सिग्नल विभाग में कर्मचारियों की कमी का सवाल एक बार फिर चर्चा में रहा। बीती रात कीठम स्टेशन के निकट मथुरा-पटना एक्सप्रेस के ब्रेक जाम हो गए। इससे ट्रेन एक घंटे तक खड़ी रही। रुनकता के निकट गेट नंबर 509 को ट्रक ने ठोकर मार दी। हालांकि इससे कोई ट्रेन यातायात प्रभावित नहीं हुआ। गेट का एक हिस्सा मामूली टेढ़ा हो गया था जिसे ठीक कर लिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सिग्नल फेल होने से ट्रेनों की रफ्तार में लगा ब्रेक