class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माओवादियों के साथ वार्ता के लिए तैयार हैं सोरेन

माओवादियों के साथ वार्ता के लिए तैयार हैं सोरेन

माओवादियों को वार्ता के लिए फिर से आमंत्रित करते हुए झारखंड सरकार ने बुधवार को कहा कि राज्य की नक्सल नीतियों की समीक्षा की जाएगी।
    
झारखंड के नये मुख्यमंत्री शिबू सोरेन ने शपथ ग्रहण के बाद कैबिनेट मंत्री रघुवर दास और सुदेश महतो के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, हम वार्ता के लिए तैयार हैं। उन्हें हिंसा छोड़ देनी चाहिए और हमसे कहना चाहिए कि वह क्या चाहते हैं। क्या वह सरकार बनाना चाहते हैं।  अगर हां तो कैसे? वार्ता के लिए उन्हें आगे आना चाहिए। अर्जुन मुंडा सरकार में 2005 में गह मंत्री रहे महतो ने एक नक्सल नीति बनाई थी । उन्होंने कहा कि सरकार इसकी समीक्षा करेगी ।
    
उद्योग के लिए भूमि अधिग्रहण पर सोरेन ने कहा कि इसके लिए अच्छा पुनर्वास पैकेज होना चाहिए । उन्होंने कहा, देखिए किस तरह लोगों ने अपनी जमीन खो दी और एचईसी (हेवी इंजीनियरिंग कापरेरेशन) की स्थापना के बाद उन्हें क्षतिपूर्ति नहीं मिली। हम एक नीति बनाना चाहेंगे जिसमें हाउसिंग, रोजगार और आर्थिक पैकेज शामिल होंगे। उन्हें कोई नुकसान नहीं उठाना चाहिए। सोरेन ने कहा कि सरकार पहले के क्षतिपूर्ति पैकेज की समीक्षा करेगी जबकि नरेगा को और प्रभावी बनाया जाएगा और गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों को न्यूनतम कीमत पर हर माह 35 किलो चावल मिलेगा।
    
भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों को एक रुपये किलो चावल और गेहूं तथा 25 पैसे किलो नमक उपलब्ध कराने का वादा किया था ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:माओवादियों के साथ वार्ता के लिए तैयार हैं सोरेन