class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झामुमो को समर्थन देने का भाजपा का फैसला अनुचित: गोविन्दाचार्य

राष्ट्रीय स्वाभिमान आन्दोलन के राष्ट्रीय संयोजक के. एन. गोविन्दाचार्य ने झारखण्ड में झामुमो के प्रमुख शिबू सोरेन की सरकार को समर्थन देने के भारतीय जनता पार्टी के फैसले को अनुचित बताया है।

गोविन्दाचार्य ने मंगलवार को संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि झारखण्ड में सोरेन के साथ गठबंधन पार्टी के चाल-चरित्र और चेहरे भिन्न है। उन्होंने इसके साथ ही कर्नाटक में रेणुकाचार्य को मंत्री पद देने की भाजपा की मंशा को भी गलत बताया और कहा कि यह राजनीति में अनैतिकता की हद है। उन्होंने कहा कि दोनों ही मसलों पर भाजपा ने अपने सिद्वान्तों को ताक पर रख दिया है।

उन्होंने कहा कि सत्ता में बने रहने के लिए देश हित और समाज हित की इस हद तक उपेक्षा स्वस्थ नीति को नहीं दर्शाती। भाजपा में उनकी सशर्त वापसी के संदर्भ में सामने आए समाचारों के संबंध में गोविन्दाचार्य ने कहा कि भाजपा में वापसी के लिए न ही कोई शर्त हैं और न ही कोई तैयारी।

गोविन्दाचार्य ने कहा कि अध्ययन अवकाश पूरा होने के बाद उन्होंने स्वयं को पूरी तरह बौद्विक और रचानात्मक काम में संलग्न कर रखा है और उनके किसी पार्टी में शामिल होने की बात बिना कारण उछाली जा रही है।

इस प्रश्न पर कि नितिन गडकरी को भाजपा अध्यक्ष और सुषमा स्वराज को लोकसभा में विपक्ष की नेता नियुक्त करने के बाद क्या यह समझा जाए कि भाजपा में अटल बिहारी वाजपेई और लालकृष्ण आडवाणी के युग का अंत हो गया या अभी भी रिमोट उन्हों के हाथों में है, के जवाब में उन्होंने कहा कि यह तो आने वाला समय ही बताएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:झामुमो को समर्थन देने का भाजपा का फैसला अनुचित: गोविन्दाचार्य