class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिम्मेदारी से मोबाइल कंपनियों ने हाथ खींचे

मोबाइल विक्रेता व वितकों की चल रही हड़ताल ने उपभोक्ताओं का परेशानियों को और अधिक बढ़ा दिया है। मोबाइल कंपनियों द्वारा नया सिम एक्टीवेशन की जिम्मेदारी लेने से इंकार के बाद हड़ताल अनिश्चित काल के लिए बढ़ा दी गई है। वहीं इस हड़ताल में मेरठ, बुलंदशहर व नोएडा भी शामिल हो गया है। यहां भी किसी कंपनी के प्री-पेड मोबाइल रिजार्च नहीं हो रहे हैं।


टेलीकाम डिस्ट्रीब्यूर्ट्स एसोसिएशन के सचिव ललित कुमार ने बताया कि सोमवार को आईडिया, वोडाफोन व एयरटेल कंपनी के अधिकारियों से वार्ता की गई। सभी ने नए सिम कार्ड के एक्टीवेशन की जिम्मेदारी लेने से साफ इंकार कर दिया है। इसके बाद सात स्थानों की एसोसिएसशन के पदाधिकारियों की बैठक की गई। जिसमें पांच सदस्चीय कमेटी का गठन किया है। जो हड़ताल की आगे की रणनीति निर्धारित करेगी। फिलहाल हड़ताल में गाजियाबाद, साहिबाबाद, मोदीनगर, नोएडा, मेरठ, बुलंदशहर व पूर्वी दिल्ली के एयरटेल डिस्ट्रीब्यूटर्स हड़ताल में शामिल हैं। इस हड़ताल को राष्ट्रीय सैनिक मोर्चा ने भी समर्थन देने की घोषणा की है। कर्नल तेजेंद्र पाल त्यागी ने कहा कि यह मांग राष्ट्र हित की है। मोबाइल फोन चलाने वाले व्यक्ति की सही प्रकार से जांच होनी चाहिए। कंपनी की यह जिम्मेदारी है कि जिस ग्राहक को वह सेवाएं दे रही है वह सहीं है या नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जिम्मेदारी से मोबाइल कंपनियों ने हाथ खींचे