class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खुलेआम छलकाया जाम तो महंगा पड़ेगा

खुले में नए साल का जश्न मनाना महंगा पड़ सकता है। खुले में जाम छलकाते हुए पकड़े जाने पर न केवल आयोजक बल्कि पार्टी में शामिल सभी लोगों को खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। सजा के रूप में न केवल उन पर जुर्माना ठोंका जा सकता है बल्कि उन्हें जेल भी भेजा पड़ सकता है।

नया साल करीब आने के साथ ही प्राइवेट पार्टियां करवाने के लिए लोगों ने आबकारी विभाग से संपर्क साधना शुरू कर दिया है। ऐसी पार्टियों को स्वीकृति देने से पहले आबकारी विभाग उन जगहों की जांच करेगा, जो पार्टी के लिए प्रस्तावित हैं।

नए साल (31 दिसंबर) का जश्न मनाने के लिए विभाग के पास आधा दजर्न से अधिक आवेदन आ चुके हैं। जिनमें जगह व पार्टी में शामिल लोगों का ब्यौरा दिया गया है। आवेदन को ध्यान में रखते हुए आबकारी विभाग ने टीम बना ली है। तीन दिन में यह टीम उन जगहों की जांच कर लेगी, जहां प्राइवेट पार्टियां होनी हैं। अगर पार्टियों की जगह उपयुक्त नहीं पाई जाती तो उनका आवेदन पर विचार न करते हुए उसे खारिज कर दिया जाएगा।

आबकारी निरीक्षक महेंद्र पाल ने बताया कि आधा दजर्न से अधिक आवेदन आ चुके हैं। अब उन आवेदनों की जांच की जा रही है। जांच में संतोषजनक स्थान पाए जाने पर उन्हें प्राइवेट पार्टी करने की स्वीकृति दे दी जाएगी। अगर जांच में स्थान उपयुक्त नहीं पाया जाता तो वहां पर न्यू इयर पार्टी में शराब सर्व नहीं की जा सकती।

पकड़े जाने पर आयोजक व पार्टी में शामिल लोगों के खिलाफ आबकारी अधिनियम की धारा-60 व आईपीसी की अन्य धाराओं के तहत कार्रवाई की जाएगी।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खुलेआम छलकाया जाम तो महंगा पड़ेगा