class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अप्रवासी भारतीयों ने रोशन किया देश का नाम

विदेशों में रह रहे भारतीयों ने इस वर्ष कई तरह की उपलब्धियां हासिल करके दुनियाभर में भारत का गौरव बढ़ाया। कॉरपोरेट सेक्टर से लेकर शिक्षा और साहित्य के क्षेत्र में भारतीयों को उनकी बहुमुखी प्रतिभा के कारण शीर्ष पदों पर नियुक्त किया गया। विदेशों में भारतीयों की उपलब्धियों का लेखा जोखा-इस प्रकार है-
    
राष्ट्रमंडल के महासचिव और ब्रिटेन में भारत के पूर्व उच्चायुक्त कमलेश शर्मा को क्वीन्स यूनिवर्सिटी बेलफास्ट (क्यूयूबी) का नया चांसलर नियुक्त किया गया।

एशियन इंडियन वूमेन इन अमेरिका (एआईडब्ल्यूए) की 42 वर्षीय अध्यक्ष अंजु भार्गव दूसरी भारतीय अमेरिकी नागरिक हैं, जिन्हें व्हाइट हाउस ऑफ फेथ बेस्ड एंड नेबरहुड पार्टनरशिप्स ने अपनी आस्था आधारित परामर्शदात्री परिषद में नियुक्त किया है।

मैनहेटन के नए एटॉर्नी पद पर एक भारतीय अमेरिकी प्रीत भरारा को नियुक्त किया गया। फिरोजपुर में जन्मे भरारा 1970 में अपने अभिभावकों के अमेरिका जाने के बाद से वहीं रह रहे हैं।

भारतीय मूल की अमेरिकी महिला फराह पंडित ने 15 सितंबर को मुस्लिम देशों के लिए पहली अमेरिकी विशेष दूत के रूप में शपथ ली। ओबामा प्रशासन ने फराह की नियुक्ति इस्लामिक देशों तक पहुंच बनाने के लिए की। मूल रूप से जम्मू-कश्मीर की निवासी फराह का परिवार 60 के दशक में अमेरिका चला गया था।

बराक ओबामा ने भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक राजीव शाह को यूएस एजेंसी फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट (यूएसएआईडी) के प्रमुख के पद पर नामांकित किया।

भारतीय मूल के एक दक्षिण-अफ्रीकी छात्र विवेक नारणभाई ने डरबन के यूनिवर्सिटी ऑफ क्वाजुलु-नटाल में स्नातक की दो डिग्रियां एक साथ पाई और दोनों में ही उन्हें अव्वल दर्जा मिला।

अप्रवासी भारतीय क्रिस्टोफर राजेंद्रन हेमैन को गड़वी गुजरात 2 (जीजी2) मैन ऑफ दी ईयर पुरस्कार प्रदान किया गया।
   
ब्रिटेन की शीर्ष पेशेवर सेवा कंपनी केपीएमजी की भागीदार नीना अमीन को वीमैन आफ दी ईयर पुरस्कार प्रदान किया गया।
   
अरोड़ा इंटरनेशनल ग्रुप ऑफ होटल्स के मालिक और अप्रवासी भारतीय उद्योगपति सुरेंद्र अरोड़ा को एंटरपेन्योर ऑफ दी ईयर अवॉर्ड से नवाजा गया।
   
दुबई में रह रही दो बच्चों की मां और एक भारतीय कंप्यूटर इंजीनियर बैंक बचत योजना में 1-3 करोड़ रूपये का नकद ईनाम जीतकर रातों-रात करोड़पति बन गई। मूल रूप से केरल निवासी 30 वर्षीय आयशा रीमा ने दुबई बैंक की कुनूज बचत योजना में 8,000 दिरहम (1,06,216 रूपये) का निवेश किया था।

अप्रवासी भारतीय उद्यमी करतार लालवानी (72) को उनकी व्यावसायिक उत्कृष्टता और जीवन विज्ञान के क्षेत्र में दिए योगदान के लिए लॉयडस टीएसबी ज्वेल लाइफटाइम एचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया। लालवानी विटामिन कंपनी विटाबायोटिक्स लिमिटेड के संस्थापक हैं, जो ब्रिटेन में आज सबसे तेजी से बढ़ने वाली शीर्ष विटामिन कंपनी है। भारत में जन्मे लालवानी फार्मेसी में डिग्री पाने के बाद 1956 में ब्रिटेन चले गए थे। 1971 में उन्होंने अपनी कंपनी खोली।
   
लंदन में बसी भारतीय मूल की 23 वर्षीय रीना पटेल ने ब्रिटेन के बर्मिंघटन में आयोजित प्रथम मिस बॉलीवुड यूके प्रतियोगिता का खिताब जीता।

व्हाइट हाउस में फिलहाल भारतीय मूल के नौ लोग काम कर रहे हैं। इनमें सोनल शाह अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की उप सहायक और सोशल इनोवेशन एंड सिविक पार्टिसिपेशन कार्यालय में निदेशक के तौर पर तैनात हैं। कविता पटेल ऑफिस ऑफ इंटरगवर्नमेंटल अफेयर्स एंड पब्लिक इंगेजमेंट की नीति निदेशक हैं और सौमिक दत्ता व्हाइट हाउस काउन्सेल के विशेष सहायक हैं। मानसी देशपांडे व्हाइट हाउस की नीतिगत मामलों की सलाहकार हैं जबकि तारा रंगराजन को उप सहायक निदेशक नियुक्त किया गया है। रचना भौमिक, आदित्य कुमार, अनीशा दासगुप्ता और प्रदीप राममूर्ति को भी खासे जिम्मेदारी वाले कार्य सौंपे गए हैं।
   

भारतीय मूल की विधि छात्रा तनुजा अनंतन ने कुआलालंपुर में मिस वर्ल्ड मलेशिया 2009 का खिताब जीता। मलेशिया की दो करोड़ 70 लाख की जनसंख्या में आठ प्रतिशत भारतीय मूल के लोग हैं।

दुनिया की सबसे कम उम्र के ब्लैक बेल्ट के रूप में विख्यात पांच वर्षीय भारतीय बालिका वर्षा विनोद ने एक मुकाबले में अपनी दक्षता से ब्रिटिश कराटे चैंपियन को भी अचरज में डाल दिया।
   
करी किंग के नाम से मशहूर अग्रणी अप्रवासी भारतीय व्यापारी सर गुलाम नून को लंदन में इस वर्ष के वर्ल्ड फूड अवॉर्ड्स के दौरान लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कार दिया गया। नून को यह पुरस्कार खाद्य पदार्थ उद्योग में उनके अभूतपूर्व योगदान के लिए दिया गया। नून ने रेडी टू ईट श्रेणी के तहत 1987 में नून प्रॉडक्ट्स की शुरूआत की थी। इसमें भारतीय और थाई भोजन की श्रेणियों पर विशेष जोर दिया गया है।
   
पाठक पिकल्स के मालिक मीना और किरीट पाठक को उल्लेखनीय उपलब्धि का पुरस्कार मिला। अग्रणी भारतीय रेस्टोरेंट द सिनामोन क्लब को रेस्टोरेंट ऑफ द ईयर घोषित किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अप्रवासी भारतीयों ने रोशन किया देश का नाम