class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाइक चोर गिरोह का पर्दाफाश

पत्रकार बनकर चोरी की गाड़ियों को बार्डर पार कराने वाले एक युवक को उसके साथी व खरीददार सहित पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान राजेश कुमार (25) और आलम उर्फ टाइगर (27) और साबू (19) के रूप में की गई है। पुलिस ने इनके पास से 11 मोटरसाइकिलें बरामद की हैं।

राजेश दिन में इलाके में घूमकर आसानी से चोरी हो सकने वाली मोटरसाइकिल की तलाश करता था और फिर शाम होते ही उसके साथी बाइक चोरी कर फुर्र हो जाते थे। इस गिरोह की पहली पसंद हीरो हॉंडा की स्पलेंडर गाड़ी थी।

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त वीरेन्द्र सिंह चहल के अनुसार पिछले कुछ समय में पुल प्रहलादपुर से कई मोटरसाइकिलें चोरी हुई थीं। इसे देखते हुए अंबेडकर नगर एसीपी महिपाल सिंह की देखरेख में थानाध्यक्ष हरीश कुकरैती व इंस्पेक्टर स्वदेश प्रकाश ने मामले की छानबीन शुरू की।

जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि ज्यादात्तर मोटरसाइकिलें शाम 5 से 10 बजे के बीच चोरी हो रही हैं। इसे ध्यान में रखते हुए पुल प्रहलादपुर के अंदर व बाहर निकलने के सभी रास्तों पर शाम को पुलिस पिकेट लगाकर जांच शुरू की गई। 20 दिसम्बर को रघुवीर सिंह ने पुलिस को बताया कि घर के बाहर से उसकी बाइक चोरी हो गई है। इसकी सूचना तत्काल पिकेट पर जांच कर रहे पुलिसकर्मियों को दी गई।

पिकेट पर जांच कर रहे पुलिसकर्मियों ने इस मोटरसाइकिल के साथ एमबी रोड पर राजेश कुमार को पकड़ लिया। उसके साथ मौजूद आलम वहां से फरार हो गया। राजेश ने पुलिस को प्रेस का कार्ड दिखाकर बचने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ में उसने अपने साथी आलम के साथ वाहनचोरी की कई वारदातों में शामिल होने की बात कबूल की। पुलिस ने उसकी निशानदेही पर आलम को भी गिरफ्तार कर लिया। आलम की निशानदेही पर अलीगढ़ व दिल्ली के विभिन्न हिस्सों से चोरी की कई मोटरसाइकिलें भी बरामद की गई। चोरी की गाड़ियां खरीदने वाले साबू को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बाइक चोर गिरोह का पर्दाफाश