class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हमारे लिए 'गोल्डन' साल रहा 2009: धोनी

हमारे लिए 'गोल्डन' साल रहा 2009: धोनी

भारतीय कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने कहा है कि टीम इंडिया के लिए वर्ष 2009 काफी शानदार रहा है, जिसमें उसने कई उपलब्धियां हासिल करने के साथ साथ टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन स्थान भी पा लिया।

धोनी ने शनिवार को कहा कि निश्चित रूप से यह साल हमारे लिए बेहतरीन रहा और हम आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन बन गए। यह एक महान उपलब्धि है जो हमें टीम प्रयास से मिली है। धोनी को भारत के नंबर वन बनने पर रविवार शाम एक समारोह में आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हारून लोर्गट टेस्ट चैंपियनशिप की गदा प्रदान करेंगे।
 
भारत ने इस वर्ष छह टेस्ट खेले जिनमें से उसने तीन जीते और एक भी नहीं गंवाया। भारत ने न्यूजीलैंड के दौरे में ऐतिहासिक सफलता हासिल की और श्रीलंका को घरेलू श्रृंखला में 2-0 से हराने के साथ ही टेस्ट बादशाहत अपने नाम कर ली। एकदिवसीय क्रिकेट में भारत ने 30 मैचों में से 17 जीते दस हारे और तीन में कोई परिणाम नहीं निकला।

धोनी ने कहा कि चैंपियंस ट्राफी और आस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछली श्रृंखला को छोड दिया जाए तो भारतीय टीम का विदेशी जमीन और अपने मैदान में लगातार बढिया प्रदर्शन रहा है। भारत ने श्रीलंका में एकदिवसीय श्रृंखला जीती थी। न्यूजीलैंड के दौरे में टेस्ट और एकदिवसीय दोनों श्रृंखला जीतीं।

वेस्टइंडीज दौरे में एकदिवसीय श्रृंखला जीती और श्रीलंका में मेजबान और न्यूजीलैंड को हराते हुए त्रिकोणीय श्रृंखला जीती। चैंपियंस ट्राफी और आस्ट्रेलिया के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला में भारत का प्रदर्शन बेशक अच्छा नहीं रहा लेकिन घरेलू श्रृंखला में उसने श्रीलंका को टेस्ट और वनडे दोनों सीरीज में मात दे दी।

धोनी ने कहा कि व्यक्तिगत तौर पर भी उनके लिए यह वर्ष काफी अच्छा रहा। उन्होंने कहा कि ईश्वर की कृपा है कि अभी तक मेरे लिए सब कुछ अच्छा चल रहा है। धोनी ने इस वर्ष एकदिवसीय मैचों में आस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग के बराबर सर्वाधिक 1198 रन बनाए हैं। यह लगातार दूसरा वर्ष है जब धोनी ने एक कैलेंडर वर्ष में 1000 वनडे रन पूरे किए हैं। भारतीय कप्तान ने इस वर्ष अपने 5000 वनडे रन भी पूरे किए हैं।

धोनी इस पूरे वर्ष आईसीसी की वनडे रैंकिंग में नंबर वन बल्लेबाज बने रहे हैं। उनके लिए 2009 में तमाम उपलब्धियों के बीच एकमात्र निराशा टी-20 विश्वकप रहा जिसमें वह अपने खिताब का बचाव नहीं कर पाए। इस विश्वकप और चैंपियंस ट्राफी को छोड दिया जाए तो धोनी ने वे तमाम उपलब्धियां हासिल की जिसकी कल्पना हर क्रिकेटर करता है।

भारत को टेस्ट क्रिकेट के शीर्ष पर पहुंचाना एक ऐसी बडी सफलता है जो अब तक भारतीय क्रिकेट के इतिहास में किसी अन्य कप्तान ने नहीं हासिल की थी। धोनी रविवार को जब टेस्ट चैंपियनशिप की गदा ग्रहण करेंगे तो वह भारतीय क्रिकेट के लिए एक गौरवपूर्ण समय होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हमारे लिए 'गोल्डन' साल रहा 2009: धोनी