class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नाला-नाला चले कलक्टर, देखा गंगा का हाल

गंगा की सफाई में कोताही बरत रहे अफसर अब तेजी से सक्रिय हुए हैं। क्रिसमस की छुट्टी पर ही जिलाधिकारी गंगा में गिर रहे बड़े नालों का सच देखने के लिए निकले। नगर निगम, जल निगम और जल संस्थान के अफसरों व इंजीनियरों को साथ लेकर उन्होंने गंगा में गिरते नालों और टेपिंग-डाइवजर्न के दावों को परखा। उन्होंने ग्लू फैक्ट्रियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश देकर ट्रीटमेंट प्लांट चलाने में कोताही नहीं करने की चेतावनी दी।

कलक्टर ने शुक्रवार को वही सब देखा जो सच ‘हिन्दुस्तान’ ने अपने गंगा अभियान में दिखाया है। कलक्टर के निरीक्षण में इंजीनियरों के कई हलफनामे भी झूठे साबित हो गए। गंगा में गिरते नालों को ट्रीटमेंट प्लांट की ओर मोड़ने की ठोस कवायद के लिए जिलाधिकारी अनिल कुमार सागर गंगा तट पर प्रमुख नालों के किनारे पहुँचे।

नगर आयुक्त राजीव शर्मा, जल निगम की गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई के जीएम एसएस बाजपेई, जल संस्थान के महाप्रबंधक रतनलाल को साथ लेकर निकले जिलाधिकारी अनिल सागर ने ख्योरा, ज्योरा, केसा नाला, नवाबगंज, जागेश्वर, टैफ्को, जेल नाला, सरसैया घाट, बुढ़िया घाट, डपका नाला, बंगाली घाट, सिद्धनाथ घाट और टेनरियों के चोर नाले देखे।

जिलाधिकारी को सभी स्थानों पर नालों से सीवर गंगा में गिरता मिला। इंजीनियरों ने अपने तर्क रखे, कहा कि परमट का नाला टेप करके डाइवर्ट कर दिया है। मगर सच्चई कुछ और निकली, उसे ग्रीन पार्क की ओर निकली बड़ी लाइन में जोड़ दिया गया था। टेप नाले के हिस्से में तट पर रहने वालों ने ही सीधे अवैध कनेक्शन कर दिए, लिहाजा पानी गंगा में ही जाता मिला।

छह घण्टे से ज्यादा देर तक चली इस लम्बी कवायद के दौरान जल निगम के इंजीनियरों ने बताया कि कौन सा नाला कितना टेप किया गया है और उसका पानी डाइवर्ट करके किस दिशा में मोड़ा गया। जल निगम के इंजीनियर इसके पहले कह चुके हैं कि छह नालों को डाइवर्ट किया जा चुका है। इसमें जिलाधिकारी को ख्योरा का नाला ध्वस्त मिला, इसका पानी ओवर फ्लो होकर सीधे गंगा में जाता मिला।

कई जगह उनमें अवैध कनेक्शन मिले। डपकेश्वर घाट से लेकर जाजमऊ तक ट्रंक लाइन धंसी और टूटी मिली। नालों पर टेनरियां बनी मिलीं। जिलाधिकारी ने क्षतिग्रस्त नाले तत्काल ठीक कराने को कहा। प्राथमिकता के आधार पर नाला डाइवजर्न करने को कहा और कहा कोर्ट के सामने सही तथ्य ही पेश किए जाएँ। जिलाधिकारी ने जाजमऊ में चल रही ग्लू भट्ठियों को हटाने के आदेश दिए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नाला-नाला चले कलक्टर, देखा गंगा का हाल