class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ठंड ने बढ़ाई दिल की धड़कन, कई लोगों को अटैक

ठंड बढ़ने के साथ ही दिल के मरीजों की धड़कन बढ़ने लगी है। सरकारी व गैर-सरकारी अस्पतालों में दिसंबर माह के दौरान अभी तक 70 से अधिक हार्ट पेंसेंट भर्ती हो चुके हैं।

आने वाले दिनों में ठंड और अधिक बढ़ने से इन मरीजों का आंकड़ा बढ़ने की आशंका जताई गई है। डॉक्टरों का कहना है कि अस्थमा व शुगर के मरीजों को इससे सचेत रहना होगा। सर्दी में उनका ब्लड प्रेशर हाई हो जाता है।

जिला अस्पताल के कार्डिलॉजिस्ट डा. रामेंद्र सिंह के मुताबिक इन दिनों ठंड अचानक बढ़ गई है। ठंड में बीपी बढ़ता है, जिसके कारण इंजाइना, स्ट्रोक व हार्ट अटैक की शिकायत हो जाती है। इसकी सबसे बड़ी वजह लोगों के स्वास्थ्य को लोकर लापरवाही बरतना है।

सर्दी के दिनों में तला व गरिष्ठ भोजन अच्छा लगने लगता है, जिस कारण लोग ज्यादा से ज्यादा खाते हैं। ऐसे में कैलेस्ट्रॉल की मात्र बढ़ जाती है। जिन लोगों को शुगर व सीजनल अस्थमा की शिकायत रहती है उनको दिक्कत होने लगती है।

दिसंबर माह में जिला अस्पताल में 15 मरीज माइनर हार्ड अटैक की शिकायत वाले आ चुके हैं, जबकि आधा दजर्न मरीज मेजर अटैक के आ चुके हैं। यहां आम दिनों में हार्ट के मरीजों का संख्या 25 से 30 रहती है, वहीं इन दिनों यह संख्या तीस से चालीस तक पहुंच गई है। प्राइवेट अस्पतालों में भी कुछ इसी प्रकार की स्थिति है।

यशोदा अस्पताल के डा. एन.के सोनी के मुताबिक हार्ट अटैक से दूर रहने के लिए सुबह के समय की सैर से परहेज करें। मार्निग वाक केवल सूरज निकलने के बाद ही करें। साथ ही थोड़ा व्यायाम भी करें। हरी सब्जी खाएं व तले हआ खाने से परहेज करें।

 


 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ठंड ने बढ़ाई दिल की धड़कन, कई लोगों को अटैक