class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऑन लाइन होगा राशन कार्ड का ब्यौरा

राशनकार्ड बनाने में लगातार सामने आ रहे फर्जीवाड़े को रोकने के लिए शासन अब सब कुछ ऑन लाइन करने जा रहा है। इसके लिए राशन कार्डों की कम्प्यूटर फीडिंग का काम तेजी से जारी है।

इस काम में गाजियाबाद सबसे तेज दौड़ रहा है, जहां फीडिंग का काम पूरा करने के साथ अब एक-एक कार्ड की जांच की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। अफसरों के मुताबिक, गाजियाबाद में अब नौ लाख एपीएल कार्ड, 17305 अंत्योदय कार्ड और 28429 बीपीएल कार्ड जारी किए गए हैं।

अपात्र लोगों को भी बीपीएल कार्ड जारी किए जाने की यहां लगातार शिकायतें मिल रही हैं और जांच में गड़बड़ी के मामले साबित भी हो रहे हैं। सिर्फ गाजियाबाद में ही नहीं, प्रदेश के ज्यादातर जिलों में यही कहानी दोहराई जा रही है।

सप्लाई विभाग के स्तर से इस तरह की गड़बड़ी पर अंकुश लगाने के लिए ही शासन ने राशन कार्डों का पूरा ब्यौरा ऑन लाइन करने की कार्रवाई शुरू कराई है। जिला आपूर्ति अधिकारी ए के दुबे ने हिन्दुस्तान को बताया कि प्रदेश में सबसे पहले गाजियाबाद में राशनकार्डों की कम्प्यूटर फीडिंग पूरी कर दी गई है। अब सप्लाई कार्डों की जांच शुरू कराई जा रही है। सिर्फ जांच ही नहीं, विभाग इस बार क्रास चेकिंग भी करा रहा है।जांच टीमों को हिदायत दी गई कि यदि कहीं भी सूचना में गड़बड़ी मिली तो सम्बंधित कर्मचारी-अधिकारी को तुरंत सस्पेंड कर दिया जाएगा।

डीएसओ के मुताबिक, भविष्य में नए फार्मेट में राशन कार्ड जारी किए जाने के लिए लाभार्थी परिवार के सदस्यों की जन्मतिथि, मां का नाम, जाति, व्यवसाय भी जांच में पता कराया जा रहा है।

 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ऑन लाइन होगा राशन कार्ड का ब्यौरा