class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड में त्रिशंकु विधानसभा, सोरेन के हाथ में चाबी

झारखंड में त्रिशंकु विधानसभा, सोरेन के हाथ में चाबी

झारखण्ड में विधानसभा चुनाव की बुधवार को जारी मतगणना में अब तक घोषित 56 परिणामों कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गठबंधन के बीच कांटे की टक्कर नजर आ रही है।

ताजा नतीजों के अनुसार कांग्रेस गठबंधन 12, भाजपा गठबंधन को 17 और झारखण्ड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) 14 सीटें मिल चुकी हैं। इसके अलावा कांग्रेस गठबंधन 12 सीटों, भाजपा गठबंधन चार  और झामुमो चार सीटों पर बढ़त बनाए हुए है।

राज्य में झामुमो एक निर्णायक दल के रूप में उभर रहा है। रुझानों से उत्साहित झामुमो ने ऐलान किया है कि वह उसी गठबंधन का साथ देगा जो उनके नेता शिबू सोरेन को बतौर मुख्यमंत्री स्वीकार करेगा।

पार्टी के महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने आईएएनएस से कहा, ''हम उन्हीं लोगों का समर्थन करेंगे जो सोरेन को मुख्यमंत्री बनाने में हमारा साथ देंगे।'' इससे पहले सभी 81 विधानसभा सीटों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच बुधवार सुबह सात बजे मतगणना आरंभ हुई। कुल 1,511 उम्मीदवारों के चुनावी भाग्य का फैसला होना है।

राज्य में पांच चरणों में संपन्न चुनाव के दौरान कुल 58 प्रतिशत मतदान हुआ। पहले चरण का मतदान 25 नवंबर और आखिरी चरण का मतदान 18 दिसम्बर को हुआ था। राज्य में कुल 31 मतगणना केंद्र बनाए गए हैं और 5,200 से अधिक कर्मचारी मतगणना में लगाए गए हैं। पुख्ता सुरक्षा के लिए लगभग 30,000 जवानों को तैनात किया गया है।

मरांडी ने भाजपा से अलग होकर अपना दल बनाया है और राज्य में भ्रष्टाचार के अनेक मामलों के बीच मरांडी को संभवत: उनकी स्वच्छ छवि का लाभ मिला है। लालू प्रसाद का राजद सात सीटों पर आगे है। लालू ने पटना में कहा कि राज्य में धर्मनिरपेक्ष सरकार के गठन के लिए वह काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस, झाविमो, राजद और झामुमो के नेता एक साथ बैठकर राज्य में धर्मनिरपेक्ष सरकार बनाने की संभावना तलाशेंगे। अन्य के 13 उम्मीदवार बढ़त बनाए हुए हैं जिसमें आजसू के पांच प्रत्याशी शामिल है। केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने संकेत दिया कि उनकी पार्टी राज्य में सरकार बनाने के लिए धर्मनिरपेक्ष पार्टियों से गठबंधन कर सकती है।

बाबूलाल मरांडी ने कहा कि राज्य में कांग्रेस-झाविमो गठबंधन की सरकार बनाने की नैतिक जिम्मेदारी बनती है, क्योंकि चुनावों में यह सबसे बड़ा गठबंधन बनकर उभरा है। उन्होंने संकेत दिया कि सरकार निर्माण में उन्हें शिबू सोरेन के झामुमो से समर्थन लेने में कोई परहेज न होगा। मरांडी ने कहा कि राज्य के हित में उनका गठबंधन किसी को भी साथ लेकर चलने के लिए अपने विकल्प खुले रखे हैं।

चक्रधरपुर सीट से भाजपा उम्मीदवार लक्ष्मण गिलुवा ने झामुमो के सुखराम उरांव को 290 वोटों के मामूली अंतर से पराजित किया। छतरपुर से कांग्रेस की सुधा चौधरी ने झामुमो के मनोज कुमार को 9,746 मतों के अंतर से पराजित किया।

डाल्टनगंज सीट से कांग्रेस के कृष्णानंद त्रिपाठी ने भाजपा उम्मीदवार दिलीप सिंह नामधारी को 4233 मतों के अंतर से पराजित मनोहरपुर से भाजपा के गुएचरण नायक ने झामुमो की नवमी उरांव को 6270 मतों के अंतर से पराजित किया।

पांकी सीट से निर्दलीय उम्मीदवार बिदेश सिंह ने जदयू के मधु सिंह को 20218 मतों के अंतर से पराजित किया । विश्रामपुर सीट से कांग्रेस के चंद्रशेखर दुबे उर्फ ददई दुबे ने राजद के रामचंद्र चंद्रवंशी को 8352 मतों के अंतर से पराजित किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:झारखंड में त्रिशंकु विधानसभा, सोरेन के हाथ में चाबी