class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रमंडल खेलों से जुडेंगी जापान की 140 कंपनियां

राष्ट्रमंडल खेलों से जुडेंगी जापान की 140 कंपनियां

दिल्ली में अगले वर्ष अक्टूबर में आयोजित होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों में अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय स्तर की नामी-गिरामी कंपनियों को एकजुट करने में एक और कड़ी जोड दी गई है। राष्ट्रमंडल बिजनेस क्लब ऑफ इंडिया (सीबीसीआई) ने जापान की 140 कंपनियों के लिए राष्ट्रमंडल में बिजनेस के दरवाजे खोल दिए हैं। यह एक ऐसा मौका है जब राष्ट्रमंडल के सदस्य न होने के बावजूद भी जापान अपने बिजनेस के जरिए अपरोक्ष तौर पर राष्ट्रमंडल के साथ चलता हुआ नजर आएगा।

फिक्की के सहयोग से शुरू किए गए सीबीसीआई ने सोमवार को राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति के साथ यह निर्णय लिया। इस निर्णय को अमलीजामा पहनाने के लिए कैनन, टोयोटा, मित्सुबिशी, पैनासोनिक, होंडा, सुजुकी समेत दर्जन कंपनियों को दिल्ली 2010 के संभावनाओं पर बातचीत करने के लिए बुलाया गया। इस सभी कंपनियों को टेक्नोलॉजी, टेलीकॉम, अस्थाई ढांचे का विकास और इससे जुडे हुए सामानों को हैंडल करने पर बातचीत की गई।
 
जापान एंबेसडर के निवासस्थान पर आयोजन समिति के संयुक्त निदेशक और सीबीसीआई के प्रभारी टी. एस दरबारी ने एक प्रजेंटेशन दिया। इसके साथ ही जापानी राजदूत हिडियाकी डोमिची से इस मसले पर बातचीत की गई। सबसे दिलचस्प बात यह हैं कि जापान राष्ट्रमंडल देशों का सदस्य न होने के बावजूद भी आर्थिक सदस्य के तौर पर साथ चलेगा। राष्ट्रमंडल खेलों के लिए जापान के अलावा अमेरिका, जर्मनी, फ्रांस और चीन की भी कई अंतरराष्ट्रीय कंपनियां आर्थिक तौर पर जुडीं हैं। जुलाई 2009 के चालू वर्ष के अनुसार दोनों देशों के बीच व्यापार में 5.46 अरब डॉलर पहुंच गया है। खेलों के दौरान जापान की यह कंपनियां अपने साथ आर्थिक तौर पर हिस्सा लेंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राष्ट्रमंडल खेलों से जुडेंगी जापान की 140 कंपनियां