class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शराब व ठंड बनी दो लोगों की मौत का कारण

क्षेत्र में संदिग्ध परिस्थितियों में दो अज्ञात शव मिलने से सनसनी फैल गयी, जिसके बाद घटनास्थल पर आसपास के लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। श्रमिकों की मौत का कारण अत्यधिक शराब पीना व ठंड बतायी जा रही है। एएसपी अशोक कुमार भट्ट ने भी घटना स्थल पर पहुंचकर स्थितियों का जायजा लिया।


जानकारी के मुताबिक सोमवार की तड़के तीन बजे के आसपास गदरपुर की ओर से आ रही 108 एंबुलेंस के कर्मियों ने कालीनगर के पास रोड में एक शव पड़ा देखा। इसकी सूचना तत्काल दिनेशपुर के थानाध्यक्ष इंदरसिंह राणा को दी गयी। उन्होंने दोनों शवों को पीएम के लिए रुद्रपुर भेजा। बाद में पुलिस ने मृतक की शिनाख्त तपाजुल शेख पुत्र तकीत शेख निवासी ग्रामी पीरगंज जिला मालदा पश्चिमी बंगाल के रूप में की। मृतक सिडकुल की नैस्ले फैक्ट्री में श्रमिक का कार्य करता था।

इस घटना के बाद ग्रामीणों को सुबह आठ बजे दूसरा शव दिनेशपुर रोड पर शराब भट्ठी के पास मटर के खेतों में देखा। शव कीचड़ से सना हुआ था। मृतक की शिनाख्त उसके साथियों ने छोटे सिंह पुत्र भोला सिंह निवासी जगदीशपुर, भोजपुर बिहार के रूप में की। मृतक अशोकालैलेंड फैक्ट्री में निर्माण कार्य कर रही रोहन बिल्डर्स का श्रमिक है। क्षेत्र में दो अलग-अलग जगहों पर शव पाये जाने से ग्रामीणों में दहशत फैल गयी।

इधर थानाध्यक्ष इंदर सिंह राणा ने बताया कि दोनों की मौत शराब पीनेव अधिक ठंड के चलते हुई है। ग्रामीणों के अनुसार दोनों श्रमिक नशे में थे और आपस में किसी बात को लेकर उनमें विवाद भी हुआ था। पुलिस ने शवों का पंचनामा भर श्रमिकों के परिजनों को इसकी सूचना दे दी है।

आबकारी व पुलिस निष्क्रियः ग्रामीण क्षेत्रों में पुलिस व आबकारी विभाग के नाकों तले अवैध शराब का धंधा खूब पनप रहा है। मामले की जानकारी होने के बाद भी दोनों महकमे निष्क्रिय बने हैं। दिखाने को कभी-कभार अभियान चलाया जाता है। लेकिन उसके बाद फिर यथास्थिति कायम हो जाती है। सूत्रों के अनुसार शराब में यूरिया, एक्सपायरी दवाओं व इंजेक्शनों का भी इस्तेमाल किया जाता है। जहरीली शराब के सेवन से आये दिन लोग मरते रहते हैं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शराब व ठंड बनी दो लोगों की मौत का कारण