class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैसा रहा मेकअप का ट्रेंड

साल 2009 में मेकअप में काफी बदलाव देखने को मिले। अगर कहें कि यह साल मेकअप के लिहाज से एकदम डिफरेंट रहा तो गलत नहीं होगा। जहां पूरे साल लाइट बेस मेकअप की डिमांड रही, वहीं आई मेकअप में ब्राइट कलर्स की रंगत रही। नेल आर्ट में भी काफी प्रयोग देखने को मिले।

लाइट मेकअप
कुछ साल पहले तक महिलाएं गहरा मेकअप पसंद करती थीं, लेकिन साल 2009 में महिलाओं की सोच इससे बिल्कुल अपोजिट रही। इस साल महिलाओं में लाइट मेकअप की डिमांड सबसे ज्यादा रही और लाइट में भी ऐसा मेकअप जो दिखाई न दे। मतलब महिलाएं मेकअप कराना तो चाहती हैं, लेकिन दिखाना नहीं। इसीलिए लाइट कलर्स जैसे पिंक और पीच के बेस मेकअप में ज्यादा इस्तेमाल किए गए।लिपस्टिक में भी डार्क कलर्स ट्रेंड में नहीं रहे, लाइट और सोबर कलर्स की लिपस्टिक ने ही महिलाओं को पूरे साल लुभाया। सबसे ज्यादा प्रयोग बिंदी में देखने को मिले। स्वारोस्की वाली ढेरों छोटे-बड़े स्टाइल की बिंदियां पूरे साल महिलाओं के माथे को दमकाती रहीं। कुल मिलाकर साल 2009 में महिलाओं ने नेचुरल दिखने पर ज्यादा जोर दिया, जो पिछले सालों में देखने को नहीं मिला।

कलरफुल आई मेकअप
मेकअप में सबसे ज्यादा खास होता है, आई मेकअप। साल 2009 में आई मेकअप काफी कलरफुल रहा। पूरे साल आई मेकअप में बहुत सारे प्रयोग हुए।आईशैडो में पिछले सालों जहां सिर्फ एक या ज्यादा से ज्यादा दो कलर्स का यूज किया जाता था, वहीं 2009 में तीन आईशैडो कलर्स ट्रेंड में रहे। इनमें ज्यादातर लाइट कलर्स जैसे पिंक और पीच के डिफरेंट शेड्स ट्रेंड में रहे। आईशैडो को हाईलाइट करने में पिछले साल ग्लिटर का यूज बहुत होता था, लेकिन इस साल ग्लिटर की जगह शिमर ज्यादा डिमांड में रहा। शिमरिंग की लाइट शाइन के साथ अपनी आंखों को हाईलाइट करना इस साल महिलाओं ने ज्यादा पसंद किया।वहीं अगर आईलाइनर की बात करें तो इसमें आईशैडो के मुकाबले ज्यादा डार्क कलर्स का इस्तेमाल किया गया। आईलाइनर में पूरे साल सबसे ज्यादा रेड, डार्क ग्रीन और डार्क ब्लू जैसे कलर्स ट्रेंड में रहे। काजल का यूज पूरे साल कम ही हुआ।आई लैशेज को भी इस साल ब्लैक की जगह ब्राइट कलर्स से खूबसूरत दिखाने का ट्रेंड ज्यादा रहा।

नेल आर्ट
नेल आर्ट में भी साल 2009 में कई तरह के एक्सपेरिमेंट देखने को मिले। महिलाओं ने अपने नेल्स एक्सटेंशन कराए, जिससे आर्ट के लिए स्पेस ज्यादा मिला। साथ ही नाखूनों को डिफरेंट शेप जैसे राउंड और स्क्वॉयर देने का ट्रेंड भी जोरों पर रहा। इस साल नाखूनों को सजाने के लिए नेल आर्ट में कुंदन और स्वारोस्की वर्क का बहुत इस्तेमाल हुआ। कुंदन और स्वारोस्की से सजे हुए नाखून ऐसे लगते हैं, मानो नाखूनों पर ज्वेलरी पहन रखी हो।
इस साल नाखूनों पर डिजाइन, ड्रेस के अनुसार बनाने का ट्रेंड रहा। इसके अलावा फेंटेसी नेल आर्ट से भी महिलाओं ने इस साल अपने आपको डिफरेंट लुक दिया। अगर कलर्स की बात करें तो इस साल नेल आर्ट में गोल्डन, व्हाइट, ग्रीन और ब्लू जैसे रंग सबसे ज्यादा ट्रेंड में रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कैसा रहा मेकअप का ट्रेंड