class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेलेरी की बात

यदि आप किसी इंटरव्यू में बैठे हैं और आपका इंटरव्यू लेने वाला आप पर प्रश्नों की बौछार कर रहा है, विषय के बारे में पूछताछ करने के बाद वह आपसे सेलेरी के बारे में जानकारी लेने लगता है, मसलन आपको कितनी सेलेरी मिलती थी, कितनी की उम्मीद करते हैं। अकसर इन प्रश्नों के जवाब में संशय की स्थिति होती है। हर कोई चाहता है कि उसे मिलने वाली सेलेरी, पहले से बेहतर हो। इसके लिए जरूरी है कि कुछ बातों को समझ लिया जाए ताकि इंटरव्यू के दौरान इसका अधिकतम फायदा उठाया जा सके।
पर्याप्त समय लें: आप कितनी सेलेरी चाहते हैं, इसका जवाब तब तक देना सही नहीं है, जब तक कि आप मोल-भाव करने की मजबूत स्थिति में न हो। इसलिए इस सवाल को टालें। लेकिन यदि इंटरव्यू लेने वाले इसका जवाब देने का दबाव डाले, तो इसे मत टालें। 
सच बोलें: सेलेरी के बारे में गलत आंकड़े देना सही नहीं है। इंटरव्यू लेने वाला आपसे पूछ सकता है कि आप इतनी सेलेरी की मांग क्यों कर रहे हैं। इसके जवाब आपके पास होने चाहिए। अगर आपकी सेलेरी आपके कार्य अनुभव के आधार पर कम है, तो आपसे इसके कम होने का कारण पूछा जा सकता है। आप बता सकते हैं कि इसके अतिरिक्त आपको कई चीजों का रीइम्बर्समेंट मिलता है, आपका उस कंपनी में इंश्योरेंस था। इसके अलावा, यदि आपने उस दौरान कोई डिग्री प्राप्त की है, तो आप कह सकते हैं कि डिग्री न होने के कारण सेलेरी कम थी।
वैल्यू : सेलेरी के बारे में बातचीत करते समय आपकी वैल्यू काफी अहम रोल रखती है। मसलन, इंडस्ट्री के ट्रेंड क्या हैं, आप जिस पद पर आ रहे हैं, वह कितना महत्वूपर्ण है, आप किस कार्य के स्पेशलिस्ट हैं। साथ ही चुनाव करते वक्त कंपनी की पॉलिसी भी आवश्यक फैक्टर होती है।
फ्लेक्सिबल: सेलेरी के बारे में बातचीत करते समय फ्लेक्सिबल रहें। मिलने वाले पैकेज पर भी गौर करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेलेरी की बात