class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बच्ची को अगवा कर पेचकस से गोद डाला

बड़ा लालपुर-मडवा गांव की सीमा पर एक खाली प्लाट में शनिवार की सुबह प्रीति नामक तीन साल की बच्चाी लाश मिली। प्रीति के शरीर पर हत्यारे ने क्रूरतापूर्वक पेचकस से दजर्नों वार किए थे जिससे उसकी आंतें बाहर निकल आयी थी। सिर्फ नाजुक अंग पर एक छोटा कपड़ा पड़ा था। परिस्थितिजन्य साक्ष्य बताते हैं कि हत्यारे ने संभवत: पहले उसके साथ दुष्कर्म किया, बाद में पेचकस से गोद-गोद कर उसकी हत्या कर दी। हालांकि, पुलिस ने इस मामले में अपहरण, हत्या और साजिश रचने का मामला दर्ज कर लिया है लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। लाश देर से मिली, लिहाजा देर शाम तक पोस्टममार्टम नहीं हो सका। आश्चर्यजनक यह कि जिस स्थान पर लाश मिली, वहां अधिक खून नहीं था। खून के धब्बे कुछ दूरी पर दिखे थे।


चांदमारी प्रतिनिधि के मुताबिक सुबह 6 बजे किसी बच्ची की हत्या कर लाश फेंकने की सूचना पर आसपास के गांवों से सैकड़ों की संख्या में लोग जुट गए थे। किसी ने सीसीआर को सूचना दी तो पुलिस मौके पर पहुंची। मौके पर पहुंचे सीओ कैंट ने ग्रामीणों से पूछताछ के बाद शिवपुर पुलिस को लाश हटाने के निर्देश दिए। इस बीच एक दिन पहले लापता बच्चाी के बारे में जानकारी करने शबनम कचहरी पुलिस चौकी पहुंची तो शिवपुर में किसी बालिका की लाश मिलने की बात पता लगी। पुलिस प्रीति की मां शबनम को लेकर शिवपुर थाने पहुंची तो लाश देखते ही उसने अपनी बच्चाी को पहचान लिया। शबनम के अनुसार, बीती शाम प्रीति और बेटे रहमान को लेकर वह मायके कचहरी आयी थी। गली में प्रीति को शौच महसूस हुई तो उसे बैठा कर वह पानी लेने चली गई। वापस लौटने पर प्रीति लापता मिली। रहमान का कहना था कि एक लम्बा व्यक्ति प्रीति को खिला रहा था, शायद वही उसे ले गया। शबनम ने इसकी सूचना कचहरी चौकी पर दी तो टेम्पो में उसे साथ लेकर एक घंटे तलाश की गई लेकिन सुराग नहीं मिला। जिस स्थान से प्रीति लापता हुई थी वहां से दो किलोमीटर दूर उसकी लाश मिली है। परिवार दो जून खाने को मोहताज है और किसी तरह की किसी से रंजिश भी नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बच्ची को अगवा कर पेचकस से गोद डाला