class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पिंजौर धरोहर उत्सव में दिखेगा मुगलकाल का नजारा

हरियाणा पर्यटन 18 से 20 दिसम्बर तक पिंजौर स्थित यादवेन्द्र गार्डेन्स में चौथा पिंजौर धरोहर उत्सव आयोजित करने जा रहा है।

हरियाणा के पर्यटन, परिवहन व नागरिक उड्डयन मंत्री ओ.पी. जैन ने शुक्रवार को बताया कि राज्यपाल जगन्नाथ पहाड़िया 18 दिसम्बर की शाम उत्सव का उद्घाटन करेंगे, जबकि मुख्य मंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा 20 दिसम्बर की शाम समापन समारोह के मुख्य अतिथि होंगे।

जम्मू एवं कश्मीर पर्यटन विभाग पहली बार इस उत्सव में भाग ले रहा है। इसके द्वारा फूड बाजार में विशेषकर, मुगलई शाकाहारी एवं मांसाहारी आहारों की बिक्री के लिए स्टॉल लगाया जाएगा। वहां के सांस्कृतिक दल भी आ रहे हैं।

इस दौरान मुगलकाल जैसा माहौल बनाने के लिए गार्डन में लगने वाली दुकानों तथा स्टॉल्स, टैन्ट मण्डप, फूड प्लाज़ा तथा प्रदर्शन स्टेज के आसपास स्ट्रीट बाजार भी लगाए जाएंगे। प्रवेश द्वार व पार्किग के साथ समस्त गार्डन को दीपमालाओं से सजाया जाएगा, जो उद्यान के वास्तुकला सौन्दर्य व परिदृश्य को उजागर करेगा।

केन्द्रीय पर्यटन मंत्रलय के सहयोग से आयोजित मेले के तीनों दिन सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 18 दिसम्बर को उस्ताद इकबाल अहमद खान तथा उस्ताद इमरान खान शास्त्रीय एवं सुफियाना रचनाओं को प्रस्तुत करेंगे, 19 दिसम्बर को शबाब इकबाल सबरी एवं अफजल सबरी कव्वाली पेश करेंगे, जबकि 20 दिसम्बर को हरिहरन गज़लों से श्नोताओं का मन मोहेंगे।

दिन के समय प्रसिद्घ कलाकारों द्वारा राज पिपला (सूरत), कालबेलिया सपेरा नृत्य (जयपुर), कच्ची घोड़ी (जयपुर), कठपुतली शो (चण्डीगढ़), ढोल नगाड़ा (बंचारी-होडल), बैगपाइपर (कैथल), बीन सपेरा (पानीपत), सारंगी वादन (यमुनानगर), भांगड़ा-गिद्दा, बायोस्कोप (दिल्ली) तथा लोक नृत्य प्रस्तुत किए जाएंगे। स्कूली बच्चों के लिए पेंटिंग, रंगोली, फेस पेंटिंग, मेंहदी, फैंसी ड्रैस, सुडोकू, इत्यादि प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। रोज़ शाम महिलाओं तथा परिवारों के लिए तम्बोला होगा।

पर्यटन तथा आवास वित्तायुक्त एवं प्रधान सचिव श्रीमती केशनी आनन्द अरोड़ा ने बताया कि पर्यटन विभाग दुबई की तर्ज़ पर गुड़गांव में 19 व 20 दिसम्बर को ट्रैवल मार्ट का आयोजन करने जा रहा है। इसके अलावा आगामी फरवरी में 15 दिन का एक शॉपिंग फैस्टिवल भी वहां आयोजित किया जाएगा।

उन्होंने यह माना कि प्रदेश का पर्यटन विभाग राष्ट्रमण्डल खेलों के लिए दस हज़ार कमरे उपलब्ध कराने के लक्ष्य को हासिल नहीं कर सका है। वह सिर्फ  7000 कमरे ही मुहैय्या करा पा रहा है। उनका कहना था कि जो कमी रहेगी उसे केन्द्र को शिविर स्थल उपलब्ध करा कर पूरा करेगा।

गुड़गांव में ज़िला प्रशासन द्वारा चलाई गई बेड एण्ड ब्रेकफास्ट स्कीम के विषय में श्नीमती अरोड़ा ने कहा कि उसके ऊपर सरकार में विचार चल रहा है कि उसे अपनाया जाए या नहीं। उनका कहना था कि यह स्कीम केन्द्र सरकार की है लेकिन राज्य सरकार का अनुभव इसके बारे में अच्छा नहीं है।

चंडीगढ़ में भी यह असफल हो चुकी है। इस लिए सरकार इसे लेकर बहुत उत्साहित नहीं है। जब उनसे यह कहा गया कि इसका अर्थ यह हुआ कि गुड़गांव प्रशासन उसे बिना सरकार की मंज़ूरी के चला रहा है। तो उनका कहना था कि वहां भी इसे रोकने को कह दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पिंजौर धरोहर उत्सव में दिखेगा मुगलकाल का नजारा