class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साथियों के निलंबन को लेकर हड़ताप पर गए जूनियर डॉक्टर

मेरठ के मेडिकल अस्पताल के सभी जूनियर डॉक्टर शुक्रवार से हड़ताल पर चले गए हैं। वृहस्पतिवार की शाम जूनियर डॉक्टरों का निलंबन कर दिया गया था। जिसके कारण सारे जुनियर डॉक्टर हड़ताल पर चले गए। हड़ताली डॉक्टरों का कहना है कि जब तक निलंबित जूनियर डॉक्टर फिर से बहाल नहीं किए जाएंगें तब तक हड़ताल जारी रहेगी। अभी तक आपातकालीन सेवाओं को हड़ताल से मुक्त रखा गया है लेकिन जूनियर डॉक्टरों ने कहा है कि यदि शुक्रवार शाम तक निलंबित जूनियर डॉक्टरों को बहाल नहीं किया गया तो अस्पताल के सभी जूनियर डॉक्टर सामूहिक रूप से त्यागपत्र देकर सभी तरह की सेवाएं ठप्प कर देंगें।

 अस्पताल में जूनियर डॉक्टरों के हड़ताल पर चले जाने के बाद अवकाश प्रतिबंधित  सभी चिकित्सकों और कर्मचारियों की छुटिटयां रद्द कर उन्हें काम पर वापस बुला लिया गया है। कालेज के प्राचार्य डा संदीप मित्तल ने शुक्रवार को कहा कि किसी तरह की नाजायज मांग पर कालेज प्रशासन नहीं झुकेगी। उन्होंनें बताया कि जांच रिपोर्ट पूरी मिलने के बाद दोषियों पर कार्रवाई होगी। प्राचार्य ने दावा किया कि सभी सीनियर डॉक्टर शुक्रवार ड्यूटी पर होंगें, जिससे किसी भी तरह की चिकित्सा व्यवस्था नहीं बिगड़ेगी।
 
मेडिकल अस्पताल के आई टी वार्ड में बुधवार को मरीजों के तीमारदारों और वहां तैनात जूनियर डॉक्टरों के बीच किसी बात को लेकर आपस में झगड़ा हो गया था। झगड़े के लिए दोनों ही पक्षों ने एक दूसरे को दोषी ठहराया था। मामले के तूल पकड़ने पर मेडिकल अस्पताल प्रशासन ने तीन सदस्यीय कमेटी गठित कर घटना की जांच का आदेश दिया था। कमेटी ने घटना की जांच हालांकि अभी तक पूरी नहीं की है लेकिन कमेटी की प्रारंभिक रिपोर्ट के आधार पर वृहस्पतिवार देर शाम मेडिकल अस्पताल प्रशासन द्वारा रोगियों एवं तीमारदारों से मारपीट के दोषी मानते हुए दो जूनियर डॉक्टरों एमडी प्रथम वर्ष के दिलीप कुमार व एमडी द्वितीय वर्ष के गौरव सिंघल को निलंबित कर दिया था।

 

 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:साथियों के निलंबन को लेकर हड़ताल पर गए जूनियर डॉक्टर