class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एमएलसी सीट नहीं खोना चाहते चुलबुल के परिजन

     
निवर्तमान एमएलसी उदयनाथ सिंह उर्फ चुलबुल सिंह का परिवार किसी भी दशा में वाराणसी स्थानीय प्राधिकारी सीट खोना नहीं चाहता है। यही वजह है कि पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष किरन सिंह ने भी निर्दल प्रत्याशी के रूप में पर्चा लिया है। अगर ऐन वक्त पर बाहुबली बृजेश सिंह की पत्नी अन्नपूर्णा सिंह को बसपा का टिकट कट गया तो किरन सिंह निर्दल प्रत्याशी के रूप में मैदान में उतर सकती हैं। 


बसपा प्रत्याशी अन्नपूर्णा सिंह ने 18 दिसंबर को नामांकन करने का निर्णय लिया है। इनके भतीजे बसपा विधायक (धानापुर) सुशील सिंह ने चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है। बसपा नेताओं ने जिला पंचायत और बीडीसी सदस्यों से संपर्क करने का सिलसिला तेज कर दिया है। अन्नपूर्णा सिंह ने नामांकन के लिए पर्चा ले लिया है। इनके साथ ही बसपा विधायक की पत्नी किरन सिंह ने निर्दल प्रत्याशी के रूप में पर्चा लिया है। यदि किन्हीं कारणों से अन्नपूर्णा सिंह को सिंबल नहीं मिला तो निर्दल प्रत्याशी के रूप में किरन सिंह मैदान में उतारा जा सकता है। हालांकि अन्नपूर्णा सिंह का टिकट कटने का आसार नहीं हैं।


चार लोगों ने लिया पर्चाः वाराणसी स्थानीय प्राधिकारी सीट के लिए अभी तक चार लोगों ने पर्चा लिया है। इनमें अन्नपूर्णा सिंह (बसपा), किरन सिंह (निर्दल), जय प्रकाश यादव (सपा) और शिव कुमार बिंद (प्रगतिशील मानव समाज पार्टी) शामिल हैं। भाजपा और कांग्रेस के लिए अभी तक किसी ने पर्चा नहीं लिया है। संभावना जताई जा रही है कि दोनों दल अपने प्रत्याशी मैदान में नहीं उतारेंगे। इसकी एक बड़ी वजह यह है कि दोनों दलों को आर्थिक रूप से दमदार कोई प्रत्याशी नहीं मिल रहा है।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एमएलसी सीट नहीं खोना चाहते चुलबुल के परिजन