class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अपने बच्चों का कीमती समय खो रहे हैं कामकाजी पिता

अपने बच्चों का कीमती समय खो रहे हैं कामकाजी पिता

आज के व्यस्त कामकाजी पिताओं के लिए एक चेतावनी- आप भले ही कहें कि आप अपने व्यस्त कामकाज के कारण अपने बच्चों को समय नहीं दे पाते लेकिन सच बात तो यह है कि आप उनके साथ बिताने वाला कीमती समय खो रहे हैं 2000 कामकाजी पिताओं पर किये गये एक अध्ययन के अनुसार, पांच में से दो पुरूष उस समय अपने घर पहुंचते हैं जब उनके बच्चों सो चुके होते हैं।
   
डेली एक्सप्रेस में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, व्यस्त दिनचर्या, दफ्तर के अधिक घंटे और दफ्तर तक पहुंचने में लगने वाला लंबा समय इसके लिए जिम्मेदार है। अध्ययन के अनुसार, 52 प्रतिशत पुरूषों ने स्वीकार किया कि उन्हें ऐसा लगता है कि वे कुछ खो रहे हैं क्योंकि वे वास्तव में अपने कामकाज में बेहद व्यस्त होते हैं। अध्ययन से पता चला है कि एक तिहाई पुरूष अपने बच्चों का रात के भोजन पर साथ नहीं दे पाते, वे उनके नहाने के समय उनके साथ नहीं होते और न ही वे उनके स्कूल में होने वाले कार्यक्रमों में भाग ले पाते हैं।
   
अध्ययन के अनुसार, दस में चार पुरूष ऐसे हैं जो कभी भी अपने बच्चों को स्कूल से घर लाने नहीं गये हैं। एक तिहाई पुरूष ऐसे हैं जो अपने बच्चों को होम वर्क कराने के लिए समय नहीं निकाल पाते। अध्ययन के अनुसार, दस में से एक पिता की तो यह स्थिति है कि वह अपने बच्चों के जन्मदिन के समय मौजूद नहीं रह पाता जबकि दस में तीन पुरूष कभी भी बच्चों को सोते समय कहानी सुनाने के लिए मौजूद नहीं रह पाते। केवल क्रिसमस या गर्मियों की छुट्टियां ही ऐसा समय है जब पुरूष अपने परिवार को कुछ समय दे पाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अपने बच्चों का कीमती समय खो रहे हैं कामकाजी पिता