class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अलग प्रदेश की मांग को लेकर अब मुखर होने लगा आंदोलन

पश्चिम उ.प्र.के पांच मंडलों के 22 जिलों का अलग प्रदेश बनाने की मांग को लेकर अब आंदोलन मुखर होने लगा है। सोमवार को पश्चिम उ.प्र.राज्य निर्माण युवा मोर्चा और राष्ट्रीय क्रांति मोर्चा ने संयुक्त तौर से पृथक राज्य बनाने और विरोधी शक्तियों को जवाब देने को लेकर पहले प्रदर्शन किया और बाद में पुतला फूंका।

युवा मोर्चा के लोगों का कहना था कि कुछ मुट्ठी भर लोग ही अलग प्रदेश का विरोध कर रहे हैं। पश्चिम उ.प्र.की जनता पहले ही उन्हें सबक सीखा चुकी है। आगे भी उन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया जायेगा। पश्चिम उ.प्र.के विकास के लिए अब अलग प्रदेश बनाना ही होगा।

उधर, दोआब प्रदेश संघर्ष समिति ने अलग प्रदेश की मांग को लेकर मंगलवार को कलक्ट्रेट में एक दिवसीय अनशन व धरना देने की घोषणा की है। हरित प्रदेश निर्माण संघर्ष समिति मंगलवार को अलग प्रदेश की मांग करने वालों को एक मंच पर लाने के लिए मंगलवार को बैठक आयोजित की है।

सोमवार को पश्चिम उ.प्र.राज्य निर्माण युवा मोर्चा और राष्ट्रीय क्रांति मोर्चा ने पांच बिन्दु तय किये। क्रांति मोर्चा के अध्यक्ष मनीष चौधरी ने बताया कि मुट्ठी भर लोग ही अलग प्रदेश का विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पश्चिम उ.प्र.को अब केवल अलग प्रदेश चाहिए।

इसके सिवा जनता को कुछ भी मंजूर नहीं होगा। दोनों संगठनों के सैकड़ों कार्यकर्ता अलग प्रदेश की मांग को लेकर सोमवार को सड़क पर उतरे। विभिन्न मार्गो से होते हुए वे कचहरी पुल पहुंचे और प्रदेश विरोधियों का पुतला फूंका। उसी जगह पांच बिन्दुओं की घोषणा की गई। जिस पर आगे भी आंदोलन चलता रहेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अलग प्रदेश की मांग को लेकर होने लगा आंदोलन