class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पॉवर ग्रिड की फ्रीक्वेंसी कम होने से बिजली संकट बढ़ा

पॉवर ग्रिड की फ्रीक्वेंसी कम होने से सोमवार को शहर में बिजली की किल्लत बनी रही। सब-स्टेशन वाइल अलग- अलग समय में साढ़े तीन घंटे का कट लगाया गया। इससे शहर के उद्योग व वर्कशाप बेहाल रहे।


सर्दियों में बिजली की मांग गर्मियों की अपेक्षा काफी कम रहती है। बावजूद इसके सोमवार को फ्रीक्वेंसी 50 से गिरकर 49.3 तक पहुंच गई। इससे दनादन पॉवर कट लगाने पड़े। पानीपत की तीसरी यूनिट में आई खराबी से बिजली उत्पादन ठप रहा। इससे बिजली का संकट और बढ़ गया। बिजली संकट का सर्वाधिक असर प्लॉस्टिक उद्योगों पर पड़ा। दरअसल, ऐसे उद्योगों को लगातार बिजली की जरूरत होती है। पॉवर कट लगने से मशीन में लगे माल के खराब होने की आशंका बनी रहती है। सोमवार को बिजली कटों को देख लोगों को जनरेटर के सहारे अपना उत्पादन करना पड़ा। इसके अलावा फॉल्ट के चलते शहर के कई स्थानों पर बिजली की किल्लत बनी रही। सेक्टर-37, अशोका इंक्लवे व ग्रामीण क्षेत्र में फॉल्ट के चलते काफी देर तक बिजली बंद रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पॉवर ग्रिड की फ्रीक्वेंसी कम होने से बिजली संकट बढ़ा